तिरुअनंतपुरम, एएनआइ। केरल विधानसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत दर्ज करने के बाद वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (एलडीएफ) सरकार गठन को लेकर 17 मई को बैठक करेगा। माकपा के कार्यवाहक राज्य सचिव और सत्तारूढ़ एलडीएफ के समन्वयक ए. विजयराघवन ने मंगलवार को यह जानकारी दी। वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये मीडिया को संबोधित करते हुए राघवन ने कहा कि बैठक से पहले मोर्चे के अन्य घटक दलों के साथ बातचीत की जाएगी। 18 मई को पार्टी की राज्य समिति की बैठक भी निर्धारित है।

माकपा नेता ने कहा कि विधानसभा चुनाव में एलडीएफ को ऐतिहासिक जीत मिली है। लोगों ने लगातार दूसरी बार वाम मोर्चे पर भरोसा जताया है और उसे स्पष्ट बहुमत दिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा की सांप्रदायिक राजनीति के बीच मिली यह जीत और भी अहम हो जाती है। माकपा नेता ने कहा कि केरल के लोगों ने सांप्रदायिक ताकतों और विभाजनकारी राजनीति को खारिज कर दिया है। 

सीएम का इस्तीफा  

मुख्यमंत्री पी.विजयन ने नया मंत्रिमंडल गठित करने के लिए सोमवार को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। नई सरकार के गठन से पहले उन्हें यह संवैधानिक औपचारिकता पूरी करना आवश्यक था। राजभवन के सूत्रों के अनुसार राज्यपाल ने विजयन से अगली सरकार बनने तक बतौर मुख्यमंत्री काम करते रहने को कहा है। उल्लेखनीय है एलडीएफ ने राज्य की 140 सीटों में 99 सीटें जीतकर शानदार कामयाबी पाई है। विपक्षी दल यूडीएफ को मात्र 41 सीटों पर संतोषष करना प़़डा। भाजपा को इस राज्य में एक भी सीट नहीं मिली। पिछले चुनाव में उसे जो एक सीट मिली थी वह भी इस बार हाथ से निकल गई।

ससुर सीएम और दामाद विधायक

इस बार की विधानसभा में पी. विजयन मुख्यमंत्री होंगे तो उनके दामाद मोहम्मद रियास विधायक होंगे। रियास विजयन की बेटी वीणा के पति हैं। वीणा बेंगुलुर में आइटी इंटरप्रेन्योर हैं। विजयन ने धर्मादम सीट से जहां 50 हजार से अधिक वोटों से जीत हासिल की वहीं रियास ने बेपोर सीट पर 20 हजार मतों से बाजी मारी। हालांकि कुछ एक्जिट पोल में रियास के हारने की संभावना व्यक्त की गई थी।

Edited By: Shashank Pandey