नई दिल्ली, रायटर/प्रेट्र। कर्नाटक विधानसभा चुनाव की 224 सीटों में से 222 सीटों के लिए शनिवार को हुए मतदान में करीब 70 प्रतिशत वोट पड़े। चैनलों पर आए ज्यादातर एग्जिट पोल के अनुमानों में किसी भी दल को स्पष्ट बहुमत नहीं मिलने की संभावना जताई गई है। कुछ चैनलों का अनुमान है कि भाजपा सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभर सकती है। हालांकि कुछ ने कांग्रेस को सबसे अधिक सीटें मिलने की संभावना जताई है। वैसे, असली तस्वीर 15 मई को होने वाली मतगणना में ही सामने आएगी।

- अधिकतर एग्जिट पोल में किसी भी दल को स्पष्ट बहुमत मिलने के आसार कम

- कांग्रेस और भाजपा के बीच कड़ा मुकाबला

- जदएस की हो सकती है निर्णायक भूमिका

एबीपी न्यूज-सी वोटर और टुडेज चाणक्य-टाइम्स नाऊ के एक्जिट पोल में भाजपा को स्पष्ट बहुमत मिलने का अनुमान व्यक्त किया गया है। जबकि, सुवर्णा न्यूज 24*7 और इंडिया टुडे-एक्सिस ने कांग्रेस को बहुमत मिलने की संभावना जताई है। त्रिशंकु विधानसभा की स्थिति बनने पर जनता दल सेक्युलर (जदएस) किंगमेकर की भूमिका में होगा।

हालांकि, कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दरमैया ने दावा किया है कि कांग्रेस 120 सीटें जीतकर राज्य में अपनी सत्ता बरकरार रखेगी। शनिवार को मैसूर में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि त्रिशंकु विधानसभा का कोई सवाल ही नहीं है। भाजपा के बीएस येद्दयुरप्पा के सरकार बनाने के दावे पर उन्होंने कहा कि वह मानसिक रूप से परेशान हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं और शुभचिंतकों के खिलाफ आयकर छापों के आदेश दिए गए क्योंकि भाजपा जान गई थी कि वह चुनाव हारने जा रही है। सिद्दरमैया ने कहा कि चुनाव बाद यह मसला चुनाव आयोग और संसद में उठाया जाएगा।

बढ़ सकता है मतदान प्रतिशत

चुनाव आयोग के मुताबिक, मतदान के प्रतिशत में और बढ़ोतरी होने की संभावना है क्योंकि शाम छह बजे के बाद भी कई मतदान केंद्रों के बाहर मतदाता पंक्तियों में खड़े थे। मालूम हो कि 2013 के चुनाव में 71.4 फीसद मतदान हुआ था। आयोग के मुताबिक, सबसे ज्यादा 76 फीसद मतदान चिक्काबल्लापुरा और रामनगर में दर्ज किया गया। जबकि बेंगलुरु शहर में सबसे कम 48 फीसद वोट पड़े। वहीं, रायचूर जिले के कदादगड्डे द्वीप के ग्रामीणों ने चुनाव का बहिष्कार किया और तहसीलदार का घेराव किया। यह द्वीप कृष्णा नदी पर है और यहां बुनियादी ढांचे से जुड़ी कई समस्याएं है।

स्थानीय निवासियों की लगातार मांग और अनुरोध के बावजूद प्रशासन ने इस पर ध्यान नहीं दिया। इसी वजह से ग्रामीणों ने यह कदम उठाया। बता दें कि राज्य में 2,600 से ज्यादा प्रत्याशी मैदान में हैं। इनमें 2,400 से ज्यादा पुरुष और 200 से ज्यादा महिलाएं हैं।

राहुल ने किया युवा वोटरों का स्वागत

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कर्नाटक के लोगों से मतदान करने की अपील की। साथ ही उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'मैं अपने सभी युवा दोस्तों का स्वागत करता हूं जो कर्नाटक में पहली बार मतदान कर रहे हैं।'

येद्दयुरप्पा मानसिक रूप से परेशान: सिद्दरमैया

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दरमैया ने शनिवार को जोर देकर कहा कि कांग्रेस राज्य की सत्ता में पूर्ण बहुमत के साथ वापसी करेगी। अपने राजनीति प्रतिद्वंदी भाजपा के बीएस येद्दयुरप्पा के सरकार बनाने के दावे पर उन्होंने कहा कि वह मानसिक रूप से परेशान हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं और शुभचिंतकों के खिलाफ आयकर छापों के आदेश दिए गए क्योंकि भाजपा जान गई थी कि वह चुनाव हारने जा रही है। सिद्दरमैया ने कहा कि चुनाव बाद यह मसला चुनाव आयोग और संसद में उठाया जाएगा।

सभी उम्मीदवारों का भाग्य मतपेटियों में बंद हो गया है। हसन जिले के होलनरसीपुरा में पोलिंग बूथ नंबर 244 से पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा की ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। मतदान करने के बाद उन्‍होंने कहा, 'हमें उम्मीद है कि हमारी पार्टी राज्य में सरकार बनाएगी। हमने अच्‍छा काम किया है।' इस बीच हुबली के बूथ नंबर 108 पर वीवीपीएटी मशीन में गड़बड़ी के बाद उसे बदला गया।

मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने फिर से सरकार बनाने का दावा किया है। उन्होंने चामुंडेश्वरी में अपना वोट दिया। वह चामुंडेश्वरी और बादामी दो निर्वाचन क्षेत्रों से चुनाव लड़ रहे हैं।

कांग्रेस और भाजपा के कार्यकर्ता भिड़े
कर्नाटक में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे, लेकिन इसके बावजूद कांग्रेस और भाजपा के कार्यकर्ता एक संवेदनशील बूथ के बाहर भिड़ गए। बेंगलुरु के हम्पी नगर में एक मतदान केंद्र के बाहर कांग्रेस और भाजपा के कार्यकर्ताओं में भिड़ंत हुई। विजयनगर भाजपा उम्मीदवार रवींद्र ने बताया कि हमारे नगरसेवक आनंद पर हमला किया गया, लेकिन पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। उधर बेंगलुरु के डीसीपी रवि चन्‍नान्‍नवर ने कहा कि यह एक संवेदनशील मतदान केंद्र है और बूथ के 100 मीटर के भीतर भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच संघर्ष हुआ। हम जांच करेंगे, उसके बाद दोषियों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

आमो-खास ने डाला वोट, शेयर की फोटो

सुबह-सुबह मैसूर के पूर्व शाही परिवार के कृष्णदत्त चमराजा वाडियार ने वोट डाला। आर्ट ऑफ लीविंग के प्रमुख श्री श्री रविशंकर ने भी अपने मताधिकार का प्रयोग किया। वहीं टीम इंडिया के पूर्व कप्तान अनिल कुंबले ने भी वोट डाला और अन्य वोटरों को प्रेरित करने के लिए अपनी तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर की।

येदियुरप्पा का दावा

भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार येदियुरप्‍पा ने शिकारपुर से अपना वोट डाला। मतदान से पहले उन्होंने मंदिर में पूजा-अर्चना की। वहीं, येदियुरप्पा ने मौजूदा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, 'लोग सिद्धारमैया की सरकार से तंग आ चुके हैं। मैं लोगों से आग्रह करता हूं कि वे बाहर निकलें और वोट दें।' वहीं कर्नाटक में भाजपा के प्रमुख चेहरों में शामिल केंद्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा ने पुत्‍तुर से अपना वोट डाला। भाजपा और कांग्रेस ने कर्नाटक चुनाव के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दी है।

पीएम मोदी की अपील

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कर्नाटक की जनता से भारी मात्रा में मतदान देने का अपील की थी। उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'कर्नाटक की मेरी बहनों और भाइयों को आज बड़ी संख्या में वोट देने का आग्रह करता हूं। विशेष रूप से युवा मतदाताओं को वोट देने और उनकी भागीदारी के साथ लोकतंत्र के इस त्यौहार को समृद्ध करना चाहता हूं।'

2,600 उम्मीदवारों की EVM में कैद हुई किस्मत

राज्य में 2,600 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। 4.96 करोड़ से अधिक मतदाता उनके भाग्य का फैसला करेंगे। इन मतदाताओं में 2.52 करोड़ से अधिक पुरुष, करीब 2.44 करोड़ महिलाएं और 4,552 ट्रांसजेंडर शामिल हैं। राज्य में 55,600 से अधिक मतदान केंद्र बनाए गए थे। शांत और निष्पक्ष मतदान के लिए 3.5 लाख से अधिक सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए थे। एक मोबाइल एप के जरिये पहली बार मतदाता मतदान केंद्रों पर कतार की स्थिति के बारे में भी जान सके।

2 सीटों पर मतदान स्थगित

224 विधानसभा सीटों वाले राज्य में 2 सीटों पर मतदान स्थगित कर दिया गया है। बता दें कि एक सीट पर मतदान भाजपा प्रत्याशी और वर्तमान विधायक बीएन विजयकुमार के निधन के चलते स्थगित कर दिया गया है, वहीं फर्जी वोटर आइडी कार्ड मिलने के कारण आरआर नगर सीट पर चुनाव टाल दिया गया, अब यहां 28 मई को चुनाव होगा और परिणाम 31 मई को आएगा।

बता दें कि राज्य में मुख्य लड़ाई सत्तारूढ़ कांग्रेस और भाजपा के बीच में है। हालांकि पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा की पार्टी जनता दल (सेकुलर) की भूमिका नई सरकार के गठन में निर्णायक मानी जा रही है।

Edited By: Nancy Bajpai