बेंगलुरु, पीटीआइ। कर्नाटक में सियासी उठा-पटक थमने का नाम नहीं ले रही है। कांग्रेस ने भाजपा पर कर्नाटक में सरकार बनाने के लिए विधायकों की खरीद-फरोख्‍त की आंशका जताई थी। कांग्रेस द्वारा ऑडियो टेप भी जारी की गई, जिसमें कथित तौर पर कांग्रेस विधायकों की पत्नियों को पैसों का ऑफर दिया गया। लेकिन कांग्रेस के विधायक शिवराम हेब्‍बर ने ही पार्टी के इन दावों को झूठा करार दे दिया है। कर्नाटक की येल्लापुर विधानसभा से कांग्रेस के विधायक शिवराम हेब्बर ने एक कथित स्टिंग का जिक्र करते हुए दावा किया है कि इसमें उनकी पत्नी की आवाज नहीं है। उन्‍होंने फेसबुक के जरिए अपनी पूरी बात जनता के सामने रखी है। हेब्‍बर ने लिखा कि न्यूज चैनलों से मिली सूचना के आधार पर मुझे पता चला है कि किसी ऑडियो में मेरी पत्नी और भाजपा के लोगों के बीच बातचीत का जिक्र किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि रिकॉर्डिंग में उनकी पत्नी की आवाज नहीं है, यानि यह वीडियो फेक है।

बता दें कि कर्नाटक में बीएस येदियुरप्पा ने विश्वास मत पर वोटिंग से पहले ही इस्तीफा देकर कांग्रेस-जेडीएस की सरकार के लिए रास्‍ता साफ कर दिया है। लेकिन ऐसा लग रहा है कि कांग्रेस और जेडीएस के बीच भी सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। अगर ऐसा नहीं होता, तो कांग्रेस विधायक खुलकर अपनी ही पार्टी के दावों की पोल यूं सोशल मीडिया पर नहीं खोलते। दरअसल, विश्वास मत पर वोटिंग से पहले कांग्रेस ने कुछ कथित ऑडियो स्टिंग जारी किए थे। इसमें दावा किया गया था कि भाजपा की ओर से कांग्रेस विधायकों की पत्नियों को फोन कर ऑफर दिया जा रहा है।

शिवराम हेब्बर ने दावा किया कि उनकी पत्नी को भाजपा नेताओं की तरफ से कोई फोन नहीं आया। उन्होंने ऑडियो टेप की आलोचना करते हुए उसे फर्जी(फेक) बताया है। बता दें कि शनिवार को शाम 4 बजे येदियुरप्पा को कर्नाटक विधानसभा में बहुमत साबित करना था। लेकिन इससे पहले कांग्रेस-जेडीएस ने आरोप लगाया था कि भाजपा उनके विधायकों को तोड़ने के लिए उन्होंने 100-100 करोड़ रुपये का ऑफर दे रही है। लेकिन कांग्रेस नेता ने ही अब भाजपा को इस मामले में क्लिन चिट दे दी है।

भाजपा का कांग्रेस पर वार
भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह ने कर्नाटक चुनाव के नतीजे का मामला उठाते हुए कांग्रेस पर जोरदार हमला किया। उन्‍होंने कर्नाटक की जनता और कार्यकर्ताओं का आभार जताया और कहा, ‘कर्नाटक की जनता ने कांग्रेस के खिलाफ जाकर भाजपा को जनादेश दिया।' शाह ने कहा कि हम पर हार्स ट्रेडिंग का आरोप लगा, लेकिन कांग्रेस ने पूरा अस्तबल बेच खाया है। हमारे पास अधिकार था इसलिए हमने सरकार बनाने का दावा पेश किया था। गोवा और मणिपुर में कांग्रेस ने पहले सरकार बनाने का दावा नहीं किया था। कांग्रेसी आराम कर रहे थे, तब हमने दावा किया। हम अगर खरीद-फरोख्‍त करते तो क्‍या ऐसा हाल होता?

Edited By: Tilak Raj