नई दिल्‍ली [ जेएनएन ] । कर्नाटक चुनाव में त्रिशंकु विधानसभा और भारतीय जनता पार्टी के विजय रथ को राेकने में नोटा का बड़ा रोल रहा है। विधानसभा की छह सीटों पर नोटा ने भाजपा का खेल बिगाड़ दिया। खास बात यह है कि यहां हार-जीत के फासले से ज्‍यादा नोटा को वोट पड़ा है। ऐसे में जाहिर है कि अगर ये वोट भाजपा के पक्ष में होते तो बहुमत साबित करने के लिए शायद उसे इतनी मशक्‍कत नहीं करनी पड़ती। कर्नाटक के छह विधानसभा सीटों पर भाजपा को पराजय का सामना करना पड़ा और कांग्रेस प्रत्‍याशी विजयी हुए। आइए जानते हैं छह विधानसभा सीटों पर क्‍या है नोटा का रोल।

1- हिरेकेरुर विधानसभा सीट  : हिरेकेरूर विधानसभा सीट पर कांग्रेस और भाजपा में कांटे की टक्‍कर थी। यहां भाजपा प्रत्‍याशी उजनेश्‍वरा बनाकार की महज 555 वोटों से पराजित हुए, जबकि नोटा में 972 वोट पड़े हैं। इस सीट पर नोटा कांग्रेस की जीत की बड़ी वजह बनी। भाजपा को 71906 वोट मिले और कांग्रेस वसावना गौड़ा को 72461 मत मिले।

2- कुन्‍दगोल में विजयी हुई कांग्रेस : विधानसभा की कुन्‍दगोल सीट से केवल नोटा के बल पर कांग्रेस प्रत्‍याशी ने भाजपा को पराजित कर दिया। भाजपा से कड़ी टक्‍कर के बाद कांग्रेस प्रत्‍याशी चेन्‍ना बस्‍प्‍पा 634 वोटो से विजयी हुए। कांग्रेस को 64871 वोट मिले जबकि भाजपा प्रत्‍याशी चिकाना गोदरा एस गौड़को 64237 मत मिले।

3- मस्‍की विधानसभा सीट पर कांटे की टक्‍कर : मस्‍की विधानसभा सीट पर भाजपा और कांग्रेस के बीच कांटे की टक्‍कर थी। हार-जीत का फासला महज 213 वोटों का था, जबकि यहां 2049 वोट नोटा में पड़े। यहां कांग्रेस प्रत्‍याशी प्रताप गौड़ा पाटिल ने 60387 वोट मिले, जबकि भाजपा उम्‍मीदवार बसाना गौड़ा तुरबिहाल को 60174 वोट से संतोष करना पड़ा।

4- बादामी में कांग्रेस के सिद्दरमैया जीते : उक्‍त विधानसभा सीट पर कांग्रेस के सिद्दरमैया ने भाजपा के श्रीरामोलुक को महज 1696 मतों से पराजित किया। नोटा के 2007 वोट ने भाजपा का पूरा खेल बिगाड़ दिया। कांग्रेस उम्‍मीदवार को 67599 मत मिले, जबकि भाजपा उम्‍मीदवार को 65903 मतों से संतोष करना पड़ा।

5- गडग में जिते हनमन्‍ता : नोटा के 2007 वोट कांग्रेस के हनमन्‍ता गौड़ा की जीत की बड़ी वजह बने। यहां भी कांग्रेस और भाजपा में कांटे की टक्‍कर थी। कांग्रेस के उम्‍मीदवार हनमन्‍ता ने भाजपा के अनिल मेनसिनाकाई को 1868 मतों से पराजित किया। हनमन्‍ता को 77699 वोट मिले, जबकि अनिल को 75831 मत प्राप्‍त हुए।

6- येल्‍लापुर पर नाेटा इफेक्‍ट:  उक्‍त विधानसभा सीट पर कांग्रेस के अराबैल एच शिवम विजयी हुए। इनके विजय में भी नोटा का बड़ा रोल रहा। यहां 1421 वोट नोटा में गए। कांग्रेस के एच शिवम ने 1483 मतों के अंतर से भाजपा प्रत्‍याशी को हराया। इस सीट पर कांग्रेस के प्रत्‍याशी अराबैल एच शिवराम को 66290 को मत मिले, जबकि भाजपा ए बीरभ्रद गौड़ा एस पाटिल को 64807 मत मिले। 

जानिए क्या है चुनावी आंकड़ा

दरअसल, मंगलवार को त्रिशंकु विधानसभा की स्थिति बनने के साथ ही बेंगलुरु में शह-मात का खेल शुरू हो गया था। विधानसभा की कुल 224 में से 222 सीटों पर हुए चुनाव में भाजपा को 104, कांग्रेस को 78, सहयोगी बसपा के साथ जदएस को 38 और अन्य को दो सीटें मिली हैं। ऐसे में बहुमत के लिए जरूरी 112 के आंकड़े के सबसे करीब भाजपा ही रही।

 

By Ramesh Mishra