रांची, जेएनएन। Jharkhand Assembly Election 2019 झारखंड विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण की 20 सीटों में से सर्वाधिक दुरुह तमाड़ विधानसभा क्षेत्र का कोचांग इलाका घोर नक्सल प्रभावित है। शनिवार को यहां मतदान था, बूथों पर खूब मतदाता उमड़े। लेकिन, यह संभव नहीं होता अगर वहां ईवीएम नहीं पहुंचते। सुरक्षाबलों और मतदानकर्मियों ने अथक मेहनत की। दुरुह इलाके में सात किलोमीटर पैदल चले, पहाड़ पर चढ़ते वक्त हांफे लेकिन हौसले इतने बुलंद थे कि बूथों पर ईवीएम पहुंचाकर ही माने। इन्हीं के प्रयासों का नतीजा है कि यहां लोकतंत्र जीत गया।

खूंटी के अड़की में पोलिंग पार्टी पर माओवादियों का हमला

खूंटी के अड़की प्रखंड अंतर्गत सुदूरवर्ती मारंगबुरु गांव से मतदान संपन्न करा बांदूगड़ा स्थित कलस्टर वापस लौट रहे मतदानकर्मियों व पुलिस पार्टी पर शनिवार शाम माओवादियों ने हमला कर दिया। सुरक्षा बल की जवाबी कार्रवाई के बाद माओवादी जंगल की ओर फरार हो गए। दोनों ओर से 100 से अधिक राउंड फायरिंग हुई। हालांकि किसी के हताहत या घायल होने की सूचना नहीं है। पुलिस मुख्यालय ने बताया है कि नक्सलियों के हमले का सुरक्षा बलों ने मुकम्मल जवाब दिया है। सुरक्षा बलों को भारी पड़ता देख नक्सली मौके से भाग गए।

बताया जाता है कि मुठभेड़ के दौरान एक जवान बेहोश हो गया। हालांकि अभी यह पता नहीं चल सका है कि वह दिनभर की थकान के कारण बेहोश हुआ था या कि और कोई कारण था। मुठभेड़ की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक आशुतोष शेखर सुरक्षा बलों के जवानों के साथ मौके पर पहुंचे। खबर लिखे जाने तक जंगल में पुलिस का सर्च अभियान जारी था। सभी मतदानकर्मियों को सुरक्षित गितिलगड़ा-2 स्कूल भवन में रखा गया है।

 

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस