रांची, जागरण स्पेशल। Jharkhand Assembly election 2019 - 5 चरणों में हो रहे झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए आज चुनाव प्रचार समाप्त हो गया, इसके साथ ही राजनीतिक पार्टियां अब आखिरी चरण की 16 सीटों पर  होने वाले मतदान की तैयारियों में जुट गई है। इस बार के चुनाव प्रचार के लिए तमाम पार्टियों ने अपने स्टार प्रचारकों को उतारा था, हालांकि इनमें से कुछ दलों के नेताओं ने अपने भाषण के दौरान मर्यादा की सीमाएं भी लांघ दीं। इन नेताओं के बिगड़ेे बोल की चर्चा जहांं देश-दुनिया में हुई, वहीं कई बयानों ने आम-अवाम में काफी सुर्खियां बटोरींं।

बीते दिन राहुल गांधी ने अपने भाषण के क्रम में कहा कि पीएम मोदी का मेक इन इंडिया अब रेप इन इंडिया बन गया है। राहुल ने भाजपा के नेताओं पर दुष्कर्मी होने के भी आरोप लगाए। राहुल के इस बयान ने काफी तूल पकड़ा और संसद में भी इस पर गर्मागर्म बहस छिड़ी। तब इस बयान पर राहुल से माफी मांगने की अपेेेक्षा अमेठी की सांंसद और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की अगुवाई में महिला सांसदों ने की, लेेकिन राहुल गांंधी ने माफी मांगने से साफ मना कर दिया और अपना नाम सावरकर के साथ जोड़कर एक नए विवाद को जन्म दे दिया।

इधर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की पाकुड़ में चुनावी रैली में झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने एक नए विवाद को जन्म दे दिया है। हेमंत ने यहां गेरुआ वस्त्र पर आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए कहा कि भाजपा के नेता गेरुआ वस्त्र में बेटी-बहू की इज्जत से खिलवाड़ करते हैं। बहरहाल झारखंड चुनाव के प्रचार में नेताओं ने अपने भाषण का स्तर जिस तरह से गिरा रखा है, उससे चुनावी माहौल में कड़वाहट बढ़ गई है। वोटरों के लिए असहज हो रही स्थिति में राहत की बात यह है कि चुनाव प्रचार खत्म हो गया है।

जीतेगा भारत हारेगा कोरोन

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस