रांची, जेएनएन। Jharkhand Election 2019 Phase 2 Voting झारखंड विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में वोटिंग के बीच गुमला के सिसई में पुलिस फायरिंग में जिस युवक मौत गोली लगने से हुई थी, अब चाकू मारकर उसकी हत्‍या किए जाने की बात सामने आ रही है। इस घटना में मारे गए युवक मो जिलानी अंसारी के पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि युवक के शरीर से डॉक्‍टरों को कोई गोली नहीं मिली। मजिस्ट्रेट ने मृतक का पंचनामा बनाया है। मेडिकल बोर्ड ने शनिवार रात को शव का पोस्टमार्टम किया। मामले की जांच को लेकर पूरी पोस्टमार्टम प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी कराई गई है। पुलिस के विश्वस्‍त सूत्र और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार युवक की मौत गोली लगने से नहीं स्टैब इंज्यूरी से हुई है।

पहले फायरिंग में मौत की बात आई थी सामने, अब मामले में आया नया मोड़

गुमला के एसपी अंजनी कुमार झा ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि बघनी गांव (सिसई) में सुरक्षा बलों और ग्रामीणों के बीच हाथापाई की घटना में एक जिलानी अंसारी की मौत हो गई थी। इस मामले में ग्रामीणों ने आरोप लगाया था कि सुरक्षा बलों से गोलीबारी के कारण उसकी मौत हो गई। तब मृतक जिलानी की पत्नी की लिखित शिकायत पर आरपीएफ कर्मियों (नाम नहीं दिया गया) के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी। रिपोर्ट में एसपी ने लिखा है कि मृतक के पोस्टमार्टम रिपोर्ट में, तेज धारदार हथियार से आघात के कारण रक्तस्राव और सदमे को मौत का कारण बताया गया है। कहीं भी फायर आर्म या गोली लगने का निशान नहीं था।  मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में तीन डॉक्टरों के बोर्ड द्वारा पोस्‍टमार्टम कराया गया था। इसकी वीडियोग्राफी भी की गई थी।  ऐसे में युवक की हत्‍या के पीछे कौन है, इसकी जांच के बाद ही मुख्‍य वजह पता चल पाएगा।

इधर प‍ुलिस मुख्‍यालय ने युवक की गोली से नहीं, धारदार हथियार से हत्‍या किए जाने की पुष्टि की है। पुलिस मुख्‍यालय ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में जिलानी अंसारी की मृत्‍यु धारदार हथियार से होने की बात सामने आई है। पुलिस मुख्‍यालय ने कहा है कि अनुसंधान में यह बात सामने आएगी कि घटना को अंजाम किसने और क्‍यों दिया। मामले में प्राथमिकी दर्ज कर अनुसंधान किया जा रहा है।गुमला के एसपी अंजनी कुमार झा ने भी इस रिपोर्ट की आधिकारिक पुष्टि की है। ऐसे में पुलिस फायरिंग में युवक की मौत होने के मामले में अब चाकू से वार कर हत्‍या करने के मामले में कोई संशय नहीं रहा। एसपी ने कहा कि सिसई के बूथ नंबर 36 पर हंगामा-बवाल के बीच युवक को चाकू मारने वाले तलाश की जाएगी। बता दें कि बघनी मतदान केंद्र संख्या 36 पर शनिवार को मतदान के दौरान जिलानी अंसारी नाम के युवक की मौत हो गई थी। इस दौरान पत्‍थरबाजी में कई पुलिसवालों को गंभीर चोटें आई थीं।

मतदान के दौरान शनिवार को सिसई के बघनी में हुआ था बवाल

इधर युवक की मौत के मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट से बड़ा मोड़ आ गया है। हालांकि, पुलिस ने कहा है कि कि अभी उसे पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहींं मिला है। पोस्टमार्टम करने वाली चिकित्सकों की टीम में से एक डॉक्‍टर ने अपना नाम नहींं छापने की शर्त पर बताया कि जिलानी के शरीर में गोली नहींं मिली है। गोली लगने के निशान भी नहीं मिले हैं। मृतक जिलानी के शरीर पर चाकू सरीखे किसी धारदार हथियार के जख्‍म मिले हैं। ऐसा ही एसपी अंजनी कुमार झा का भी मानना है। बहरहाल अब जांच की दिशा पोस्टमार्टम रिपोर्ट से तय होगी। पुलिस को एक बार पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट मिल गई, उसके बाद युवक की मौत के मामले में बड़ा खुलासा हो सकता है।

सिसई में फायरिंग से नहीं चाकू मारकर हुई थी जिलानी की हत्या

गुमला के  सिसई प्रखंड के बघनी गांव में शनिवार को मतदान के दौरान पुलिस व ग्रामीणों के बीच हिंसक झड़प में हुई जिलानी अंसारी नामक युवक की मौत के मामले में अब नया मोड़ आ गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह स्पष्ट हुआ है कि जिलानी अंसारी की मौत गोली से नहीं, बल्कि चाकू मारकर की गई है। इसके साथ ही दैनिक जागरण में रविवार के अंक में छपी चाकू मारे जाने की सूचना पर आधारित खबर पर भी मुहर लग गई है। उपद्रव के बीच भीड़ में जिलानी किसने चाकू मारा, इस गुत्थी को सुलझाना अब पुलिस के लिए चुनौती है।

नए सिरे से होगी हत्या की जांच

पुलिस मुख्यालय ने रविवार को जारी बयान में बताया कि सिसई के बघनी मतदान केंद्र में तैनात सुरक्षा बल व ग्रामीणों के बीच हिंसक झड़प हो गई थी। इसमें अशफाक अंसारी नामक युवक गोली से जख्मी हो गया। उसका रिम्स में इलाज चल रहा है और वह खतरे से बाहर है। इसी घटना में जिलानी अंसारी नामक युवक की पुलिस की गोली से मृत्यु होने की खबरें सामने आई थी, लेकिन, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह स्पष्ट हुआ है कि जिलानी अंसारी की मृत्यु गोली से नहीं, बल्कि धारदार हथियार से हुई है। हत्या किसने और क्यों की, इसकी जांच चल रही है। गुमला के एसपी अंजनी कुमार झा ने बताया कि हमें अब नए सिरे से मामले की जांच करनी होगी। जिलानी के शव का पोस्टमार्टम के दौरान दंडाधिकारी मंडल को तैनात किया गया था। उनकी उपस्थिति में पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी भी कराई गई है। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजन को सौंप दिया गया है।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस