रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Assembly Election 2019 - लातेहार के चंदवा व पलामू के पिपरा में नक्सली हिंसा की घटना के बाद से पुलिस मुख्यालय ने प्रत्याशियों की सुरक्षा को लेकर गाइडलाइन जारी किए हैैं। विशेष शाखा से विशेष निर्देश मिलने के बाद सभी जिलों के पुलिस अधीक्षक अपने-अपने क्षेत्र के प्रत्याशियों को नसीहत देने लगे हैं कि वे भीड़भाड़ में जाने से यथासंभव परहेज करें और सुरक्षा को लेकर सतर्क रहें ताकि खतरे की गुंजाइश न रहे।

सभी एसपी ने क्षेत्र के प्रत्याशियों को सुझाव दिया है कि वे कोशिश करें कि नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में न जाएं। बहुत जरूरी होने पर ही जाने की कोशिश करें और प्रस्थान करने के पहले पुलिस को भी इसकी सूचना दें ताकि सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम हो सके। अनजान लोगों से न मिलने की हिदायत भी पुलिस ने दी है। विशेष शाखा ने जिलों को भेजे गए गाइडलाइंस में बताया है कि विधानसभा चुनाव के समय नक्सली भी सक्रिय हो जाते हैं।

कुछ दल-विशेष को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से भी नक्सली जानबूझकर उपद्रव करने की कोशिश करते हैं। दहशत फैलाकर चुनाव बाधित करने की कोशिश करते हैं। ऐसी स्थिति में प्रत्याशी व वीआइपी, वीवीआइपी भी नक्सलियों के निशाने पर रहते हैं। उनकी सुरक्षा पुलिस-प्रशासन के लिए अहम है, क्योंकि अनहोनी पर विधि-व्यवस्था का संकट उत्पन्न होने का खतरा रहता है।

शहर, बाजार व सड़क पर उतारे गए केंद्र से मिले अतिरिक्त बल

भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर केंद्र से मिले अतिरिक्त बल को शहर, बाजार व सड़क पर उतारा गया। अब फोर्स विजिबल है, ताकि चुनाव के समय किसी तरह की नक्सल संबंधित कोई अनहोनी न होने पाए। राज्य में नक्सल विरोधी अभियान से केंद्र से मिले अतिरिक्त बल को दूर रखा गया है। बाजार, भीड़भाड़ वाले क्षेत्र व सड़क की सुरक्षा को प्राथमिकता दी गई है, क्योंकि इन्हीं जगहों पर चुनावी सरगर्मी होती है। डीजीपी कमल नयन चौबे ने एक दिन पूर्व ही इससे संबंधित दिशानिर्देश जारी कर दिया था।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस