खास बातें

  • प्रधानमंत्री ने कर्नाटक के बहाने झारखंड में कांग्रेस व उनके सहयोगियों पर साधा निशाना 
  • मोदी ने कहा, कांग्रेस, झामुमो और राजद का इतिहास भ्रष्टाचार और विश्वासघात का
  • कांग्रेस और उसके सहयोगियों के एक-एक उम्मीदवार को झारखंड में भी हराना जरूरी

अगर त्रिशंकु परिणाम आता है तो कर्नाटक की तरह तबाह करने वाले मैदान में उतर आते हैं। झारखंड की जयकार करवानी है तो बहुमत की सरकार चुनें। नरेंद्र मोदी, पीएम।

बरही/बोकारो, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Assembly Election 2019 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कर्नाटक उपचुनाव के रुझानों को मौकापरस्त राजनीतिक दलों के लिए सबक बताया है। कर्नाटक के बहाने झारखंड में कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों पर जमकर निशाना साधा। साफ कहा, कांग्रेस कभी गठबंधन पर खरी नहीं उतरती है। अपने हित के लिए वो सहयोगियों को कठपुतली की तरह उपयोग करती है। कांग्रेस को नक्सलवाद को बढ़ावा देनेवाली पार्टी करार देते हुए मोदी ने कहा कि इसमें कांग्रेस की मास्टरी है।

झारखंड में अपने तीसरे चुनावी दौरे के क्रम में सोमवार को बरही व बोकारो पहुंचे प्रधानमंत्री के निशाने पर झामुमो और राजद भी रहे। स्पष्ट कहा, कांग्रेस, झामुमो और राजद का इतिहास भ्रष्टाचार और विश्वासघात का रहा है। अनुच्छेद 370, अयोध्या विवाद, पिछड़ा वर्ग और सामान्य वर्ग के गरीबों के लिए भाजपा सरकार के स्तर से की गई पहल का जिक्र करना भी वे नहीं भूले। कांग्रेस को पीएम ने नक्सलवाद को बढ़ावा देने वाली पार्टी करार देते हुए कहा कि इन्हें और उनके साथियों को इसमें मास्टरी मिली हुई है। कांग्रेस सरकारों ने राज्य में नक्सलवाद और हिंसा के उद्योग को आगे बढ़ाया है। कहा, इन्हें कर्नाटक की जनता ने धूल चटा दी है लेकिन यह पार्टी सुधरने वाली नहीं है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र में सरकार बनने के बाद उन्होंने गरीबों और आम लोगों के लिए बैंकों के दरवाजे हमेशा के लिए खोल दिए हैं। पीएम ने अपने संबोधन के क्रम में कई मौकों पर जनता से सीधे संवाद किया। राम जन्म भूमि का जिक्र प्रधानमंत्री ने जैसे ही किया जनसमूह से जय श्रीराम का जयघोष गूंजने लगा। स्वर इतना तेज था कि पीएम को अपना संबोधन तक कुछ देर के लिए रोकना पड़ा। उन्होंने इस विवाद को लटकाने के लिए कांगेस को ही दोषी ठहराया। कहा, उन्होंने इस मामले को लटकाए रखा ताकि उनकी वोट बैंक की खिचड़ी पकती रहे। फैसला तब आया जब दिल्ली में भाजपा की मजबूत सरकार आई।

बनाएं पूर्ण बहुमत की सरकार

प्रधानमंत्री ने कर्नाटक के मौजूदा परिणाम और वहां हुई राजनीति की विस्तार से चर्चा की। कर्नाटक उपचुनाव में भाजपा को मिली बढ़त से उत्साहित प्रधानमंत्री ने झारखंड के लोगों से भी ऐसे ही परिणाम की उम्मीद की। यह भी कहा कि कर्नाटक के परिणाम को याद रखने की जरूरत है, कांग्रेस व उसके सहयोगियों को झारखंड में एक-एक सीट पर हराना जरूरी है। जनता को चेताते हुए कहा कि अगर त्रिशंकु परिणाम आता है तो कर्नाटक की तरह तबाह करने वाले मैदान में उतर आते हैं। पीएम ने कहा आज पूरी दुनिया मे हिंदुस्तान की जय-जयकार हो रही है। पूछा कि क्या यह जय-जयकार झारखंड की भी नहीं होनी चाहिए। जवाब हां में मिलने पर कहा, अगर झारखंड का भी जय-जयकार करना है तो रांची में भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनाना बहुत जरूरी है।

पिछड़ों को साधा

ओबीसी कमीशन को संवैधानिक दर्जा दिए जाने का मामला भी उठाया। कहा, कांग्रेस और उसके साथियों ने ने पिछड़ों के हितों को बचाने वाला यह काम नहीं किया और ना होने दिया। यह काम भी तब हुआ जब दिल्ली में आपने मोदी की सरकार बनाई। सामान्य वर्ग सवर्ण समाज के आरक्षण का मामला भी उठाया। कहा, गरीब परिवार के युवा आरक्षण की मांग कर रहे थे। लेकिन इन गरीब परिवारों की बातों पर ध्यान नहीं दिया गया। मोदी सरकार आई तो सामान्य जनता के गरीबों को 10 प्रतिशत आरक्षण का लाभ भी मिला। कहा, भाजपा ईमानदारी से काम करती है। भाजपा देश के आदिवासियों की जिंदगी, पिछड़ों की जिंदगी को बेहतर बनाने, उनकी मुश्किलें कम करने, उनका मान सम्मान बढ़ाने के लिए दिन-रात मेहनत कर रही है। लेकिन कांग्रेस हो, राजद हो या फिर झामुमो उनका इतिहास है आप से विश्वासघात व भ्रष्टाचार करना रहा है।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस