रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Assembly Election 2019  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झारखंड विधानसभा चुनाव के दौरान आक्रामक रुख को जारी रखते हुए नागरिकता संशोधन बिल पर कांग्रेस को आड़े हाथों लिया है। मोदी ने बुधवार को इस मुद्दे पर हुए मत विभाजन में विपक्ष को मिले 99 वोटों के आधार पर कहा जहां सरकार के लिए शुभ अंक सवा सौ मिले हैं वहीं विपक्षा 99 के फेर में फंस गया है। आम लोगों से उन्होंने कांग्रेस के बहकावे और छलावे से बचकर रहने की अपील करते हुए कहा कि देश के लोगों खासकर नार्थ-ईस्ट के लोगों को इस बिल से घबराने की कोई जरूरत नहीं है। मोदी ने धनबाद की सभा में झामुमो को भी निशाने पर लिया तो राजद या लालू यादव का नाम लिए बगैर कहा कि जो लोग यह कहते थे कि झारखंड उनकी लाश पर बनेगा वे भी झारखंड में वोट मांगते फिर रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को धनबाद में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए नागरिकता संशोधन बिल पर कहा कि आजादी के बाद देश की दो भुजाएं अलग-अलग समय पर काट दी गर्ईं और इसका सर्वाधिक प्रभाव पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के अल्पसंख्यकों पर पड़ा। उन्होंने आम लोगों से पूछा कि इन देशों में अल्पसंख्यक कौन-कौन है तो सभी एक स्वर में हिंदू-हिंदू बोल पड़े। मोदी इसके आगे बढ़े और कहा कि अफगानिस्तान में तालिबानियों ने ईसाई समुदाय के लोगों के साथ मारकाट शुरू की तो सैकड़ों की संख्या में लोग भारत भाग कर आए लेकिन उन्हें आश्वासन देने के बावजूद नागरिकता नहीं दी जा रही थी।

यही कारण है कि हमने पड़ोसी राष्ट्रों के हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, ईसाई और पारसी अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने का निर्णय लिया। वहां उनके खिलाफ अमानवीय बर्ताव हो रहा था बहू-बेटियों के साथ अत्याचार भी आम बात थी। घुसपैठियों की राजनीति करती रही कांग्रेस इस मुद्दे पर मुस्लिमों से छल कर रही है। नार्थ-ईस्ट में कांग्रेस आग लगाने की कोशिश में है लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिलेगी। उन्होंने कहा कि बाबा धाम यहां से दूर नहीं और बाबा धाम की धरती से नार्थ-ईस्ट को आश्वस्त करना चाहता हूं कि वहां की भाषा, संस्कृति का मान सम्मान रखा जाएगा और यह भाजपा की प्राथमिकताओं में शामिल है।

हर महीने जाते हैं दो केंद्रीय मंत्री

मोदी ने नार्थ-ईस्ट को लेकर पार्टी की नीति पर कहा कि हम एक्ट ईस्ट नीति पर काम कर रहे हैं। आज तक देश के जितने प्रधानमंत्री नार्थ-ईस्ट गए हैं उससे कहीं अधिक बार वे गए हैं। केंद्र सरकार के दो मंत्री हर महीने नार्थ-ईस्ट जाते हैं। उन्होंने खासतौर पर आसाम के लोगों को आश्वस्त किया है कि उनकी परंपरा, भाषा, रहन-सहन, संस्कृति पर आंच नहीं आने दूंगा। उनके भविष्य को संवारने का काम होगा। मोदी ने लोगों से अपील की कि उन्हें अपने सेवक मोदी पर विश्वास रखना चाहिए। कांग्रेस के बहकावे में नहीं आएं। किसी तरह के झूठे झांसे में ना फंसें। हम सभी को आसाम की संस्कृति पर गर्व है। कांग्रेस की डिक्शनरी में जनहित नहीं बल्कि स्वहित और परिवार हित है। उनकी राजनीति रही है - लूटो और लटकाओ।

पिछड़ों-अगड़ों की मांग पूरी की, एससी-एसटी का आरक्षण बढ़ा

मोदी ने कहा कि कांग्रेस शासन में लंबे समय से पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक मान्यता देने की मांग होती रही लेकिन इसे पूरा किया भाजपा की सरकार ने। इसी प्रकार आर्थिक रूप से कमजोर अगड़ों को दस फीसद आरक्षण देने का काम भी हमारी सरकार ने किया है। इसके साथ ही उन्होंने जोड़ा कि लोगों में भ्रम फैलाया गया कि भाजपा के आने से लोगों का आरक्षण जाएगा लेकिन एससी-एसटी के आरक्षण को हमारी सरकार ने अगले दस वर्षों के लिए बढ़ा दिया है।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस