रांची, राज्य ब्यूरो। झारखंड विधानसभा चुनाव को लेकर वामदलों ने बड़ा एलान किया है। वामदलों ने चुनाव में 50 विधानसभा क्षेत्रों में प्रत्याशी उतारने की घोषणा की है। हालांकि, वामदलों ने यह भी स्पष्ट किया है कि भाजपा को हारने के लिए वे विपक्ष के संयुक्त गठबंधन के पक्षधर हैं। विपक्षी गठबंधन न होने की स्थिति में वामदल संयुक्त रूप से अपना उम्मीदवार उतारेंगे। रविवार को भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी रांची राज्य कार्यालय में वामदलों की बैठक में इस बाबत सहमति बनी।

मासस नेता मिथिलेश सिंह की अध्यक्षता में हुई बैठक में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य सचिव सह पूर्व सांसद भुवनेश्वर प्रसाद मेहता, पूर्व राज्य सचिव कामरेड केडी सिंह, सहायक राज्य सचिव महेन्द्र पाठक, राजेंद्र यादव, पीके पांडे, स्वयंवर पासवान, मोहम्मद सीपीआइएम के राज्य सचिव गोपी कांत बख्शी, सुखनाथ लोहरा, भाकपा माले के राज्य सचिव जनार्दन प्रसाद, मासस के मिथिलेश सिंह, राजेंद्र गोप मौजूद थे। नेताओं ने भारतीय जनता पार्टी की आर्थिक नीतियों के कारण देश में आए आर्थिक संकट पर चिंता जताते हुए कहा कि आज देश आर्थिक संकट से जूझ रहा है।

नरेंद्र मोदी की सरकार दोनों हाथों से जनता की गाढ़ी कमाई को लुटा रही है। सार्वजनिक कल-कारखानों को बंद किया जा रहा है। देश में निजीकरण का दौर चल रहा है, जिससे देश संकट में है। बैंकों के एकीकरण से देश को आर्थिक रूप से काफी नुकसान हो रहा है, आर्थिक सुधार करने के लिए सरकार को आगे आकर जनहित में काम करना चाहिए। इन सारे सवालों को लेकर राष्ट्रव्यापी कार्यक्रम के तहत, झारखंड के सभी प्रमंडल मुख्यालयों में 12 अक्टूबर तक जन जागरण अभियान एवं प्रमंडल मुख्यालयों में धरना प्रदर्शन करने, 16 अक्टूबर को रांची में विशाल कन्वेंशन करने का निर्णय लिया गया।

नेताओं ने कहा कि झारखंड विधानसभा के चुनाव में भाजपा को शिकस्त देने के लिए वामदल गठबंधन का पक्षधर है। विपक्ष के सभी लोगों को मिलकर एक बड़ा गठबंधन बनाकर भाजपा को परास्त करनी चाहिए। अगर विपक्ष गोलबंद नहीं हो पाता तो उस परिस्थिति में वामदलों के प्रतिनिधि झारखंड विधानसभा के 50 विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव लड़ेंगे। इसको लेकर संयुक्त रूप से जन जागरण अभियान चलाया जाएगा। सरकार की जनविरोधी नीतियों के विरोध में जनता को गोलबंद किया जाएगा।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस