रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Assembly Election 2019 झारखंड मुक्ति मोर्चा ने राज्य विधानसभा चुनाव की मतदान पद्धति पर आशंका जाहिर की है। इस बाबत निर्वाचन आयोग को लिखे गए पत्र में झामुमो महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा है कि 80 वर्ष से ऊपर के मतदाताओं को डाक मतपत्र के जरिए मतदान का निर्देश दिया गया है। अगर मतदाता मतदान के लिए मतदान पदाधिकारी के पास जा सकते हैैं तो उसमें ऐसी कौन सी बाधा है कि उन्हें डाक मतपत्र उपलब्ध कराने की कवायद की जा रही है।

डाक मतपत्र उपलब्ध कराने और संग्रह करने का दायित्व मतदान पदाधिकारी पर होता है, जो सरकारी कर्मचारी होता है। इसकी विश्वसनीयता संदेह के घेरे में होगी। इसे कौन सुनिश्चित करेगा कि मतदान कर्मी ऐसे मतदाताओं को किसी खास दल के लिए मतदान के लिए प्रेरित करेगा या प्रलोभन नहीं देगा? इस नई पद्धति से स्वच्छ मतदान की भावना को ठेस पहुंच सकती है। झामुमो ने आग्रह किया है कि निष्पक्ष मतदान के लिए इस प्रक्रिया पर पुनर्विचार आवश्यक है। ऐसे में आयोग पुरानी प्रक्रिया को बरकरार करे ताकि निष्पक्षता बरकरार रह सके।

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप