रांची, जासं।Jharkhand Assembly Election 2019 झारखंड में अाज से विधानसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान शुरू हो गया है। चुनाव पांच चरणों में संपन्न होगा। वहीं, 17 जिलों के 741 पोलिंग बूथ ऐसे हैं, जो पहाड़ी क्षेत्रों के आसपास हैं या इन इलाकों में मोबाइल कंपनी के बीटीएस (मोबाइल टॉवर) उपलब्ध नहीं है। जिससे चुनाव के दौरान मोबाइल नेटवर्क ना होने के कारण संचार में समस्याएं उत्पन्न हो सकती है।

हालांकि मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय चौबे ने आश्वस्त किया है कि शैडो एरिया में भी चुनाव के दौरान कोई समस्या नहीं होगी। उन्होंने कहा कि इन क्षेत्रों को आयोग द्वारा पुलिस वायरलेस व सेटेलाइट फोन के माध्यम से कवर कर लिया जाएगा। इसके बाद कोई भी शैडो एरिया नहीं होगा।

सिमडेगा में है सबसे अधिक शैडो एरिया :

जिले के वैसे इलाके जहां मोबाइल नेटवर्क की उपलब्धता नहीं है उनमें सिमडेगा सबसे ऊपर है। यहां 174 इलाके शैडो एरिया है। वहीं इसके बाद गुमला 101 व गढ़वा के 75 इलाके शामिल हैं। वहीं इस सूची में रामगढ़ व बोकारो के सबसे कम क्षेत्र प्रभावित हैं। रांची में 11 शैडो एरिया है।

महंगा होने के कारण नहीं खरीदा सेटेलाइट फोन

चुनाव के मद्देनजर बीएसएनएल द्वारा चुनाव आयोग के समक्ष सेटेलाइट फोन की खरीदारी का प्रस्ताव दिया गया। लेकिन चुनाव आयोग के मुताबिक महंगा होने के कारण ये उपकरण नहीं खरीदे गए।

किस जिले में कितने शैडो एरिया हैं

खूंटी 45, रांची 11, लोहरदगा 26, गुमला 101, रामगढ़ 2, हजारीबाग  61, कोडरमा   49, चतरा 16, गिरीडीह   51, बोकारो  2, धनबाद  11, ईस्ट सिंहभूम  39, सरायकेला   36, सिमडेगा   174, लातेहार    20, पलामू     22, गढ़वा 75

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021