जमशेदपुर, वीरेंद्र ओझा।  Jharkhand Assembly Election 2019 झारखंड विधानसभा चुनाव में इस बार इतनी उथल-पुथल मची कि हर कोई हैरान हो गया। इतने बड़े-बड़े नेताओं और पार्टी के प्रदेश अध्यक्षों तक ने पाला बदला है कि अधिकांश लोग भ्रम में पड़ गए हैं। इसी उथल-पुथल की वजह से कोल्हान की चार सीट हॉट सीट बन गई है। 

रघुवर बनाम सरयू

इस चुनाव की सबसे हॉट सीट जमशेदपुर पूर्वी की है, जहां मुख्यमंत्री रघुवर दास के खिलाफ उनके ही मंत्रिमंडल के कैबिनेट मंत्री रहे सरयू राय ताल ठोक रहे हैं। किसी ने सोचा नहीं था कि सरयू राय का जमशेदपुर पश्चिमी से टिकट कटेगा। इसका भी अनुमान किसी को नहीं था कि टिकट कटने पर सरयू मुख्यमंत्री के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे। पहली बार मुख्यमंत्री के खिलाफ कोई बड़ा नेता चुनाव लड़ रहा है। अव्वल यह कि इस सीट से कांग्र्रेस के गौरव वल्लभ और झाविमो के अभय सिंह ने ताल ठोंक कर मुकाबले को और रोचक कर दिया है। 

जमशेदपुर पश्चिमी

दूसरी हॉट सीट जमशेदपुर पश्चिमी की हो गई है, जहां से सरयू राय दो बार और बन्ना गुप्ता एक बार एक-दूसरे को हराकर चुनाव जीत चुके हैं। इस बार भी बन्ना गुप्ता कांग्रेस से चुनाव लड़ रहे हैं, जबकि सरयू राय की जगह भाजपा ने अधिवक्ता देवेंद्रनाथ सिंह को टिकट दिया है। यह विधानसभा क्षेत्र भाजपा का गढ़ माना जाता है, लेकिन बन्ना की पकड़ को भी यहां कमजोर नहीं माना जाता। इस विस क्षेत्र पर पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रचार करने आए थे।

बहरागोड़ा

हॉट सीट में तीसरा स्थान बहरागोड़ा विधानसभा क्षेत्र का आता है, जहां भाजपा के टिकट पर कुणाल षड़ंगी व झामुमो के समीर महंती आमने-सामने हैं। यह सीट हॉट इसलिए भी बन गई है, क्योंकि दोनों उम्मीदवारों ने चुनाव के ठीक पहले पाला बदला है। यहां दोनों उम्मीदवारों की अपनी पहचान व प्रतिष्ठा तो है ही, बड़े वोट बैंक वाली पार्टी का भरोसा भी है। यही वजह है कि दोनों में कांटे की टक्कर मानी जा रही है।

चक्रधरपुर

कोल्हान की चौथी हॉट सीट चक्रधरपुर है, जहां से भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा चुनाव लड़ रहे हैं। इससे ठीक पहले गिलुवा सिंहभूम लोकसभा क्षेत्र से संसदीय चुनाव हार गए थे। पार्टी ने गिलुवा को उनके गृह क्षेत्र से विधानसभा का टिकट दिया है। उनके सामने झामुमो के सुखराम उरांव हैं, जिनकी क्षेत्र में अलग पहचान है। सुखराम पहले भी झामुमो से इस सीट पर विधायक रह चुके हैं। उनके कद को देखते हुए झामुमो ने मौजूदा विधायक शशिभूषण सामद को हटाकर सुखराम को टिकट दिया है। वैसे सामद ने भी पिछले पांच साल में अपनी अलग पहचान बना ली है। इसे देखते हुए झाविमो ने सामद को टिकट दे दिया है, जिससे यहां त्रिकोणात्मक संघर्ष की स्थिति बन गई है। इन चारों हॉट सीट का नतीजा क्या आता है, इस पर सबकी नजर लगी है। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस