रांची, राज्‍य ब्‍यूरो।  Heavy Fire in Jharkhand Assembly झारखंड विधानसभा के नए भवन का एक हिस्सा बुधवार को आग की भेंट चढ़ गया। आग विधानसभा भवन के पश्चिमी हिस्से में बुधवार की रात लगी। आग पहले तल्ले पर फैली और कई कमरों को चपेट में ले लिया। इस हिस्से में विपक्ष की लॉबी और प्रेस दीर्घा है। आग से इस हिस्से को काफी नुकसान पहुंचा है। अग्निशमन दस्ते की लगभग दर्जन भर गाड़‍ियों को आग बुझाने के लिए घंटों मशक्कत करनी पड़ी। आग लगने की इस घटना के बाद अब नए विधानसभा भवन में आगजनी की घटना से नई सरकार के गठन के बाद पहले सत्र की कार्यवाही नए विधानसभा भवन में होने पर संशय मंडराने लगा है।

वर्तमान में पांच चरणों में चल रहे झारखंड विधानसभा चुनाव के जरिये पांचवी विधानसभा का गठन पांच फरवरी तक होना है। इसके लिए चुनाव की प्रक्रिया चल रही है। विधानसभा भवन का निर्माण करने वाली ठेका कंपनी रामकृपाल कंस्ट्रक्शन के अधिकारी सोनू के मुताबिक एक साथ चार स्थानों पर आग लगना साजिश प्रतीत हो रहा है। हालांकि उन्होंने साजिश की वजह नहीं बताई। जब मीडियाकर्मी आग बुझने के बाद पहले तल्ले की ओर जाने लगे तो निर्माण कंपनी रामकृपाल कंस्ट्रक्शन के कर्मियों ने उन्हें जबरन रोकने की कोशिश की।

प्रधानमंत्री ने 12 सितंबर को किया था उद्घाटन

विधानसभा के नए भवन उदघाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 12 सितंबर, 2019 को किया था।  इसके बाद 13 सितंबर को इसमें एकदिवसीय विशेष सत्र बुलाया गया था। आग लगने की सूचना मिलने के बाद विधानसभा के सचिव महेंद्र प्रसाद मौके पर पहुंचे और उन्होंने मौजूद पदाधिकारियो से वस्तुस्थिति की जानकारी ली। 

दो घंटे की मशक्कत के बाद बुझी आग

आग की लपटें बुधवार रात करीब साढ़े आठ बजे दिखी। वहां काम कर रहे लोगों ने इसे सबसे पहले देखा। कयास लगाया जा रहा है कि बेल्डिंग के काम के दौरान आग फैली। आग लगने की सही वजह पता नहीं चल पाई है। जिन हिस्सों में आ लगी, वह पूरी तरह खाक हो चुका है। अग्निशमन दस्ते की 10 गाड़ि‍यों को आग बुझाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी। आग पर रात 10 बजे काबू पाने में सफलता मिली।

नवनिर्मित विधानसभा के पश्चिमी हिस्से में आग लगी है। आग पर काबू पा लिया गया है। सुनील कुमार, सचिव, भवन निर्माण विभाग

विधानसभा में भीषण आग से अब नई सरकार का पहला विधानसभा सत्र नए भवन में होने पर संशय

  • आग से पश्चिमी हिस्से को भारी नुकसान, 12 सितंबर को प्रधानमंत्री ने किया था उद्घाटन
  • 10 दिसंबर को हैैंडओवर किया जाना था नया भवन, निर्माण कंपनी ने बताया साजिश
  • रामकृपाल कंस्ट्रक्शन के कर्मियों ने प्रभावित कमरों की तस्वीरें लेने से रोका
  • विपक्ष की लॉबी समेत प्रेस दीर्घा को भारी नुकसान

 देश की भव्य विधानसभाओं में शुमार है भवन

खास बातें

  • धुर्वा में 39 एकड़ भूखंड पर बनकर तैयार हुआ है विधानसभा का नया भवन
  • तीन मंजिला भवन में उपलब्ध हैं सभी प्रकार की आधुनिक सुविधाएं
  • देश की पहली पेपरलेस विधानसभा, जल और ऊर्जा संरक्षण का मॉडल
  • 37 मीटर ऊंचे गुंबद के साथ देख में सबसे अनोखी विधानसभा का गौरव
  • आगंतुकों के लिए गैलरी, कांफ्रेंस हाल में 400 लोगों के बैठने की व्यवस्था
  • सौर ऊर्जा से बिजली की आपूर्ति, छत का बूंद-बूंद वर्षाजल संरक्षित होगा

झारखंड विधानसभा भवन की खासियत

सेंट्रल विंग : एसेंबली हॉल (150 लोगों के बैठने की व्यवस्था), मुख्यमंत्री का चैंबर, स्पीकर का कक्ष, डिप्टी स्पीकर का कक्ष, कांफ्रेंस हॉल (400 लोगों के बैठने की व्यवस्था), एसेंबली सेक्रेटरी का कक्ष, मुख्य सचिव का कार्यालय, प्रधान सचिव का कार्यालय, एमएलए लॉबी, वीआइपी विजिटर गैलरी, मीडिया गैलरी, लाइब्रेरी, कैंटीन आदि।

(19837.62 वर्ग मीटर)

पूर्वी विंग : मंत्रियों के कक्ष (22), कमेटी रूम (6), चीफ ह्वीप का कक्ष (1), संयुक्त सचिव, अपर सचिव, उप सचिव व अंडर सेक्रेटरी का कक्ष एवं कार्यालय। (13466.08 वर्ग मीटर)

पश्चिमी विंग : नेता प्रतिपक्ष का कार्यालय, कमेटी रूम (5), कमेटी के चेयरमैन का कक्ष (25), मान्यताप्राप्त राजनीतिक दलों के नेता का कक्ष (5), विपक्ष के चीफ ह्वीप का कक्ष (1), ह्वीप (5) और अन्य कार्यालय समेत बैंक व पोस्ट ऑफिस जैसी सेवाओं के लिए जगह।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस