रांची, [जागरण स्‍पेशल]। Jharkhand Assembly Election 2019 इसे ही कहते हैं सिर मुड़ाते ओले पड़ना। साहब अकेले दम पर एक बार फिर झारखंड को संवारने निकल पड़े हैं। उनके आठ में सात सिपहसालार कमल खिलाने निकल पड़े, परंतु विक्षुब्धों के सहारे चुनावी वैतरणी पार करने की आस न टूटी। साहब ने विपक्षी दलों के महागठबंधन को पहले ही बाय-बाय कर डाला था। सोचा सत्ताधारी गठबंधन के विक्षुब्धों को अपना बनाएंगे, आठ-10 सीट तो फिर ले ही आएंगे। इससे इतर केला पर फिसल गई विक्षुब्धों की टोली और खाली रह गई लालबाबू की झोली।

गौतम सागर ने 10 हजार के मुचलके पर ली जमानत

राजद से अलग होकर अलग दल राजद लोकतांत्रिक बनाने वाले गौतम सागर राणा और कार्यकारी अध्यक्ष कैलाश यादव ने मंगलवार को 10 हजार रुपये के मुचलके पर जमानत ली। कार्यकारी अध्यक्ष ने सदर अनुमंडल पदाधिकारी पर पक्षपातपूर्ण रवैया अपनाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि आचार संहिता उल्लंघन के मामले में दल के अध्यक्ष और कार्यकारी अध्यक्ष पर बिना जाने समझे प्राथमिकी दर्ज करने का आरोप मढ़ा गया है।

झारखंड विधानसभा चुनाव की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप