रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Assembly Election 2019 - विधानसभा चुनाव में अपने दल से टिकट नहीं मिलने से विक्षुब्ध नेताओं के लिए मंगलवार को आजसू के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश महतो का द्वार सुबह से ही खुला रहा। कोई नेता खुलेआम सुदेश से मिलने पहुंचे, तो कोई चुपके-चुपके। उनके आवास पर दिनभर गहमा-गहमी रही। सबसे पहले भाजपा के मुख्य सचेतक राधाकृष्ण किशोर सुदेश से मिलने पहुंचे। बंद कमरे में दोनों नेताओं के बीच लगभग डेढ़ घंटे तक बातचीत हुई। वहां से निकलने के बाद राधाकृष्ण ने आजसू में शामिल होने की घोषणा की।

इस बीच, कांग्रेस की नेत्री तथा झारखंड प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष तिलेश्वर साहु की पत्नी साबी देवी भी सुदेश से मिलने अचानक पहुंच गईं। आधा घंटे की मुलाकात के बाद उन्होंने आजसू में वापसी की पुष्टि करते हुए कहा कि वे बरही से चुनाव लड़ेंगी। बता दें कि तिलेश्वर साहु आजसू के नेता थे। पिछले विधानसभा चुनाव में साबी देवी कांग्रेस में चली गई थीं। इस बार उन्हें बरही से टिकट नहीं मिला।

इधर, सुदेश महतो से मिलने के बाद लौट रहे भाजपा के वरिष्ठ नेता कडिय़ा मुंडा के छोटे पुत्र अमरनाथ मुंडा ने अपना चेहरा छिपा लिया। चुपके से निकलकर गाड़ी में बैठने के बाद जैसे ही उनसे बातचीत करने की कोशिश की गई, उन्होंने अपने जैकेट से कार का शीशा ढक दिया। इससे पहले, सुदेश से मिलने पहुंचीं भाजपा नेत्री आरती कुजूर कैमरा देखकर वापस लौटने लगीं। बाद में समझाने पर सुदेश से मिलने अंदर गईं। लगभग एक घंटे तक उनकी सुदेश से बातचीत हुई।

इस बीच, कांग्रेस के नेता प्रदीप बलमुचू के भी आजसू में शामिल होने की चर्चा होती रही। वहीं, इसी साल संपन्न लोकसभा चुनाव से ठीक पहले राजद से भाजपा में शामिल होने वाले गिरिनाथ सिंह के भी सुदेश से मिलने उनके आवास पर आने की चर्चा होती रही। सुदेश महतो ने भी स्वीकार किया है कि कई दलों के बड़े नेता आजसू में शामिल होने के लिए उनके संपर्क में हैं।

आजसू का दामन थामेंगे अकील

आजसू की पाकुड़ जिला कमेटी और बरहड़वा की प्रखंड कमेटी के सदस्यों ने मंगलवार को पूर्व विधायक अकील अख्तर के आवासीय कार्यालय में उनसे मुलाकात की। इसका नेतृत्व जिलाध्यक्ष आलोक जॉय पॉल ने किया। इस संबंध में बयान जारी कर जिलाध्यक्ष ने बताया कि 13 नवंबर को अकील अख्तर रांची स्थित केंद्रीय कार्यालय में सुदेश महतो के समक्ष आजसू की सदस्यता ग्रहण करेंगे। विदित हो कि पूर्व विधायक अकील अख्तर ने सोमवार को झामुमो की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप