गिरिडीह, जेएनएन। भाजपा ने जहां रघुवर दास को फिर से मुख्यमंत्री के रूप में घोषित कर झारखंड विधानसभा का चुनाव लड़ने का ऐलान किया है वहीं महागठबंधन किसे मुख्यमंत्री के रूप में प्रोजेक्ट कर चुनाव लड़ेगा यह अभी तय नहीं है। झारखंड प्रदेश कांग्रेस के नए अध्यक्ष पूर्व केंद्रीय मंत्री रामेश्वर उरांव ने कहा है कि झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन को अभी महागठबंधन का नेता घोषित नहीं किया गया है। नेता के सवाल पर अभी बातचीत चल रही है। उरांव का यह बयान पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के लिए बड़े झटके के समान है। क्योंकि सोरेन झारखंड में विपक्ष की ओर से खुद को मुख्यमंत्री का स्वभाविक दावेदार मानते हैं।

पूर्व सांसद के अभिनंदन समारोह में शामिल हुए प्रदेश अध्यक्षः कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व सांसद डॉ. रामेश्वर उरांव गिरिडीह जिला कांग्रेस कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। वे यहां पूर्व सांसद तिलकधारी प्रसाद सिंह के राजनीतिक जीवन के 57 साल पूरे होने पर आयोजित अभिनंदन समारोह में भाग लेने आए थे। इस मौके पर इंटक के राष्ट्रीय महासचिव राजेंद्र प्रसाद सिंह, पूर्व सांसद तिलकधारी प्रसाद सिंह एवं पूर्व विधायक व प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष केशव महतो कमलेश भी मौजूद थे।

महागठबंधन में वाम दलों को भी शामिल किया जाएगाः पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी को महागठबंधन का नेता बनाए जाने के सवाल पर कहा कि अभी कुछ भी तय नहीं है। उन्होंने कहा, महागठबंधन बनाकर कांग्रेस विधानसभा चुनाव लड़ेगी यह तय है। लेकिन सीटों के बंटवारे को लेकर विवाद है। कांग्रेस कितने सीटों पर लड़ेगी, यह भी खुलासा करने से उरांव ने इंकार किया। कहा कि सभी कुछ पार्टी नेतृत्व तय करेगा। कांग्रेस के कुछ विधायकों के भाजपा में शामिल होने की संभावना पर कहा कि जो भी ऐसा करेंगे, वे नादान होंगे। वैसे जाने वालों को कभी कोई रोक नहीं पाया है। विधानसभा चुनाव में महागठबंधन में वाम पार्टियों को भी शामिल किया जाएगा। उनके वजूद को झुठलाया नहीं जा सकता है। कामरेड कभी भी भाजपा को वोट नहीं देते हैं। उनके वोटों को आसानी से भाजपा विरोधी गठबंधन में शिफ्ट किया जा सकता है।

खुद को स्थापित करने वाले नेता पुत्रों को मिलेगा टिकटः कांग्रेस नेताओं के बेटे एवं बेटियों को टिकट के सवाल पर उरांव ने कहा कि किसी को सिर्फ इसलिए खारिज नहीं किया जा सकता है कि वह किसी नेता का संतान है। अपने दम पर खुद को स्थापित करने वाले नेता संतानों को भी टिकट देने से पार्टी परहेज नहीं करेगी।

भाजपा के 370 का मुकाबला बेरोजगारी व भुखमरी से कांग्रेस करेगी : भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष ने झारखंड विधानसभा चुनाव में जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाने एवं तीन तलाक खत्म करने को मुद्दा बनाने की घोषणा की है। भाजपा के इस मुद्दे का मुकाबला करने के लिए कांग्रेस बेरोजगारी एवं भुखमरी को हथियार बना जनता की अदालत में जाएगी। भ्रष्टाचार भी एक बड़ा मुद्दा होगा। झारखंड में एक भी काम बिना रिश्वत दिए किसी कार्यालय या थाने में नहीं हो रहा है। उदघाटन के 12 घंटे के अंदर कोनार नहर का डैम टूटना भ्रष्टाचार का बड़ा मुद्दा है। इस मौके पर प्रदेश युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अनूप सिंह, जिला कांग्रेस के अध्यक्ष नरेश वर्मा, पूर्व जिलाध्यक्ष एनपी सिंह बुल्लू, डॉ. मंजू, कृष्णा सिंह आदि मौजूद थे।

Posted By: Mritunjay

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप