रांची, राज्‍य ब्यूरो। Jharkhand Assembly Election 2019 सुखदेव भगत ने बतौर भाजपा उम्मीदवार बुधवार सुबह लोहरदगा सीट से अपना नामांकन दाखिल कर दिया। भाजपा-आजसू गठबंधन के बनते-बिगड़ते समीकरण के बीच भाजपा ने देर रात उन्हें प्रत्याशी बनाने का निर्णय लिया था। भाजपा आलाकमान के निर्देश पर पार्टी की प्रदेश इकाई की ओर से सुखदेव भगत को ये सूचना रात 01:05 बजे मिली। उन्हें सिंबल के लिए रांची बुलाया गया। सूचना मिलते ही सुखदेव रांची के लिए रवाना हुए और सिंबल लेकर लोहरदगा वापस लौट गए। सुखदेव भगत के प्रत्याशी बनाए जाने के साथ ही यह तकरीबन तय हो गया कि भाजपा और आजसू की राहें जुदा-जुदा हो गई हैं। लोहरदगा के साथ-साथ हुसैनाबाद सीट के लिए भी भाजपा प्रत्‍याशी बुधवार को नामांकन दाखिल कर रहे हैं।  हालांकि, भाजपा ने देर रात तक अन्य प्रत्याशियों की सूची जारी नहीं की थी।

भाजपा प्रत्याशी के रूप में सुखदेव भगत ने किया नामांकन

पहले चरण के चुनाव को लेकर भाजपा प्रत्याशी के रूप में सुखदेव भगत ने बुधवार को अंतिम दिन लोहरदगा में नामांकन प्रपत्र दाखिल किया। नामांकन के समय सुखदेव भगत के साथ भाजपा नेता ओम प्रकाश सिंह, श्रीचंद प्रजापति, भाजपा जिलाध्यक्ष राजमोहन राम और सामेला भगत मौजूद थे। अपने कार्यकर्ताओं के साथ भाजपा प्रत्याशी सुखदेव भगत एसडीओ कार्यालय स्थित निर्वाचन कार्यालय पहुंचकर निर्वाची पदाधिकारी-सह-अनुमंडल पदाधिकारी ज्योति झा के सामने नामांकन पत्र दाखिल किया।

इससे पूर्व भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ सुखदेव भगत भाजपा कार्यालय से रोड-शो करते हुए एसडीओ कार्यालय पहुंचे और चार सेट में भाजपा प्रत्याशी के रुप में नामांकन पत्र दाखिल किया है। जिसके बाद सुखदेव भगत ने कहा कि लोहरदगा में विकास को लेकर चुनाव लड़ रहे हैं। इस बार भी उनके लिए आम जनता का विकास ही सबसे बड़ा मुद्दा है। यहां के लोगों ने हमेशा उन्हें प्यार दिया है। यहां सबको साथ लेकर संपूर्ण विकास करना ही उनका उद्देश्य है। अब वह लोहरदगा के हर व्यक्ति के लिए प्रत्याशी हैं, सबके समर्थन से वह रिकॉर्ड बहुमत से जीत हासिल करेंगे।

नामांकन से पहले भाजपा उम्मीदवार सुखदेव भगत ने मंदिर-मस्जिद व झखरा कुंबा में टेका माथा

पहले चरण के नामांकन को लेकर बतौर भाजपा उम्मीदवार लोहरदगा सीट से सुखदेव भगत 11 बजे नामांकन नामांकन दाखिल करेंगे। इसके लिए सुखदेव भगत ने बुधवार को अपने आवासीय परिसर में स्थापित माता बुधिया भगत एवं पिता गंर्ध्व भगत की प्रतिमा पर माथा टेककर और बड़े भाई दुर्गा भगत का चरण स्पर्श कर आशीर्वाद जिसके बाद भगवान के शरण में पहुंचे।

सुखदेव सबसे पहले बाबा गोविंद दास का समाधि स्थल बाबा मठ पहुंचकर विधिविधान से पूजा अर्चना कर आशीष लिया। वहां से ठाकुरबाड़ी स्थित जगरनाथ प्रभु के मंदिर, गुदरी बाजार स्थित संकट मोचन हनुमान मंदिर, बाबा दुखन शाह का मजार, झखरा कुंबा एवं ऋद्धि-सिद्धि दात्री दुर्गा मंदिर में माथा टेका। यहां से भाजपा कार्यालय पहुंचे और कार्यकर्ताओं के साथ नामांकन के लिए निर्वाची पदाधिकारी-सह-अनुमंडल कार्यालय के लिए प्रस्थान कर गए।

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप