रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Assembly Election 2019 - झारखंड विधानसभा चुनाव के तहत पांचवें दौर की 16 सीटों पर एक वर्तमान विधायक को छोड़ सभी चुनावी मैदान में हैं। इनमें दो मंत्री लुइस मरांडी व रणधीर सिंह भी शामिल हैं। इस चरण में नेता प्रतिपक्ष सह पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, पूर्व मंत्री प्रदीप यादव तथा पूर्व स्पीकर आलमगीर आलम की प्रतिष्ठा भी दांव पर है। हेमंत सोरेन दो सीटों बरहेट और दुमका से अपना भाग्य आजमा रहे हैं।

वर्तमान विधायक की बात करें तो केवल लिट्टीपाड़ा से वर्तमान विधायक साइमन मरांडी ही चुनाव नहीं लड़ रहे हैं। उन्होंने झामुमो के टिकट पर ही अपने बेटे को चुनाव मैदान में उतारा है। बाकी सभी विधायक अपनी-अपनी सीटों को बचाने के प्रयास में इस बार भी चुनाव मैदान में हैं। वर्तमान विधायकों में ताला मरांडी इस बार भाजपा से टिकट नहीं मिलने के बाद आजसू के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। बाकी अपने-अपने दल से ही चुनाव लड़ रहे हैं।

सबसे अधिक लगातार चुनाव जीतने का रिकाॅर्ड नलिन के पास

शिकारीपाड़ा से इस बार भी चुनाव लड़ रहे वर्तमान विधायक व पूर्व मंत्री नलिन सोरेन के पास सबसे अधिक छह बार लगातार चुनाव जीतने का रिकार्ड है। यदि इस बार वे चुनाव जीतेंगे तो यह उनकी सातवीं जीत होगी।

22 फीसद उम्मीदवार करोड़पति

पांचवें व अंतिम दौर की सीटों पर चुनाव लडऩेवाले कुल 237 उम्मीदवारों में 22 फीसद उम्मीदवार करोड़पति हैं। कुल 14 उम्मीदवार ऐसे हैं जिनके पास पांच करोड़ से अधिक की संपत्ति है। 17 उम्मीदवारों के पास दो करोड़ रुपये से अधिक संपत्ति है। 51 उम्मीदवारों की संपत्ति 50 लाख से दो करोड़ रुपये के बीच है। दलों की बात करें तो भाजपा के 16 में से छह, झाविमो के 16 में चार, झामुमो के 11 में दस, आजसू के एक दर्जन प्रत्याशियों में चार तथा कांग्रेस के चार में तीन प्रत्याशी करोड़पति हैं। कुल उम्मीदवारों की औसतन संपत्ति 1.31 करोड़ रुपये है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021