रांची, राज्य ब्यूरो। सीटों के बंटवारे को लेकर अडिय़ल रुख अपनानेवाली आजसू पार्टी ने भाजपा और झामुमो के बाद अब कांग्रेस को बड़ा झटका दिया है। कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष तथा राज्यसभा के पूर्व सदस्य प्रदीप बलमुचू ने गुरुवार को आजसू का दामन थाम लिया। आजसू के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश महतो ने हरमू रोड स्थित पार्टी कार्यालय में उन्हें पट्टा पहनाकर पार्टी की सदस्यता दिलाई। आजसू में शामिल होने से यह साफ हो गया है कि वे अब इस पार्टी के टिकट पर घाटशिला से चुनाव लड़ेंगे।

वे इस सीट से लगातार तीन बार विधायक रह चुके हैं। बलमुचू के साथ कालीपद सोरेन, सीपी मैथ्यू, सुरेश महली सहित सैंकड़ों कार्यकर्ताओं ने आजसू की सदस्यता ग्रहण की। इस अवसर पर सुदेश ने कहा कि आजसू पार्टी जिन विषयों को लेकर आगे बढ़ रही है उसमें प्रदीप बलमुचू बड़ी भूमिका निभाएंगे। पार्टी के राजनीतिक विस्तार के कार्यक्रम और आंदोलन को भी बढ़ावा मिलेगा।

वहीं, बलमुचू ने कांग्रेस छोडऩे के कारणों का जिक्र करते हुए कहा कि पार्टी दूसरी सीट से उन्हें चुनाव मैदान में लड़ाना चाहती थी, लेकिन वे घाटशिला से चुनाव लडऩे की पूरी तैयारी कर चुके थे। दूसरी सीट से चुनाव लड़ता तो क्षेत्र की जनता और अपने कार्यकर्ताओं के साथ नाइंसाफी करता। कार्यकर्ताओं का निर्णय हुआ कि आजसू में शामिल होकर चुनाव लड़ा जाए।

उन्होंने कहा कि राजनीतिक करियर के शुरुआती दिनों में वे आजसू के ही साथ थे। आज उनकी वापसी हुई है। हालांकि बलमुचू ने उस सीट का नाम नहीं लिया जहां से कांग्रेस उन्हें टिकट देना चाहती थी, लेकिन चर्चा है कि पार्टी उन्हें जमशेदपुर पूर्वी विधानसभा सीट से मुख्यमंत्री रघुवर दास के विरुद्ध चुनाव मैदान में उतारना चाहती थी। बलमुचू ने इससे इन्कार कर दिया।

जारी रहेगा विक्षुब्धों के आने का सिलसिला

दूसरे दलों में टिकट नहीं मिलने से नाराज विक्षुब्धों का आजसू में आने का सिलसिला जारी रहेगा। कई नेता आजसू के संपर्क में हैं। आजसू अध्यक्ष सुदेश महतो ने भी इसे स्वीकार किया है। गुरुवार को पूर्व मंत्री हरिनारायण राय के भी आजसू में शामिल होने की चर्चा थी, लेकिन उन्हें चुनाव लडऩे की अनुमति झारखंड हाई कोर्ट से नहीं मिलने के कारण यह टल गया। चर्चा है कि भाजपा के नेता अमित यादव, जानकी प्रसाद यादव सहित कई अन्य नेता भी आजसू के संपर्क में हैं।

झामुमो के तारकेश्वर तिवारी भी आजसू में शामिल

जमशेदपुर के झामुमो नेता तारकेश्वर तिवारी ने भी गुरुवार को पार्टी छोड़कर अपने समर्थकों के साथ आजसू की सदस्यता ग्रहण कर ली। आजसू के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश महतो ने उन्हें पार्टी में शामिल कराया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस