सोलन, जेएनएन। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की ओर से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान पर निर्वाचन विभाग ने संज्ञान लिया है। निर्वाचन विभाग ने सतपाल सत्ती को नोटिस भेजा है, जिसका उन्हें 24 घंटे के भीतर जवाब देना होगा। सत्ती का जवाब मिलने के बाद निर्वाचन विभाग इस संबंध में आगामी कार्रवाई करेगा। नोटिस के संबंध में चुनाव आयोग को भी जानकारी भेज दी गई है। निर्वाचन विभाग ने नोटिस में नालागढ़ के रामशहर में उनके भाषण के दौरान कहे अपशब्द व सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो को आधार बनाया है। जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त सोलन विनोद कुमार ने मंगलवार को सोलन से यह नोटिस जारी किया। रामशहर में 13 अप्रैल को भाजपा अनुसूचित जाति व जनजाति मोर्चा की जनसभा रखी गई थी, इसमें भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मुख्य अतिथि थे।

नोटिस का जवाब दिया जाएगा : सत्‍ती

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने कहा कांग्रेस पार्टी के पास कोई मुद्दा नहीं है। इसलिए बेवजह मुद्दा बनाने की फिराक में है। कुछ दिन पहले नालागढ़ में एक संबोधन के दौरान उन्होंने विपक्ष की चर्चा करते हुए उदाहरण के रूप में किसी व्यक्ति द्वारा सोशल मीडिया में डाली गई टिप्पणी का जिक्र किया था। साथ ही यह कहा था कि ऐसी टिप्पणी करने वाला व्यक्ति भी भाजपा का नहीं हो सकता। सत्ती ने कहा कि ‘मैंने भी भारी मन से यह बात कही थी कि लोग गुस्से में क्या-क्या लिख रहे हैं। नोटिस का जवाब दिया जाएगा।

सत्ती के भाषण से हुई तोड़-मरोड़ : रणधीर

भाजपा के मुख्य प्रवक्ता रणधीर शर्मा पार्टी प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सत्ती के बचाव में आए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस षड्यंत्र के तहत सत्ती के भाषण के दौरान कहे शब्दों को वीडियो एर्डिंटग के सहारे तोड-मरोड़ कर प्रदेश की जनता को गुमराह करने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस कोशिश कर रही है कि प्रदेश में गलत परंपरा की शुरुआत की जाए जो निंदनीय है।

Edited By: Rajesh Sharma