गुरुग्राम, जेएनएन। हरियाणा विधानसभा चुनाव-2019 की तैयारी में जुटी कांग्रेस को प्रदेश में एक और झटका लगा है। कांग्रेस छोड़ने की कड़ी में हरियाणा राज्य महिला आयोग (Haryana State Commission for Women) की पूर्व उपाध्यक्ष सुमन दहिया (Suman Dahiya) ने सोमवार को कांग्रेस छोड़ने की घोषणा कर दी और भाजपा में शामिल हो गईं। इस मौके पर उन्होंने प्रदेश के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह पर आरोप लगाया है कि उनमें गुटबाजी खत्म करने की क्षमता नहीं हैं, क्योंकि वे खुद भाई-भतीजावाद में लिप्त हैं।

सुमन दहिया के कांग्रेस की महिला मोर्चा की पूर्व जिलाध्यक्ष पूजा शर्मा, पूर्व सचिव पूनम दहिया, सोनिया तेवतिया, सुधा अग्रवाल, प्रतीक अग्रवाल, अजय कांडा, श्याम सुंदर चांदना ने कांग्रेस को छोड़ देने का ऐलान किया। इस मौके पर हाल ही में भाजपा में आए पूर्व सीनियर डिप्टी मेयर यशपाल बत्रा और रविंद्र जैन भी मौजूद रहे।

इस मौके पर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कार्यशैली से प्रभावित होकर भाजपा में शामिल हुईं हैं। उन्होंने कहा कि दो दिन पूर्व ही उन्होंने भाजपा की सदस्यता ले ली है। उन्होंने कहा वह भाजपा में एक सामान्य कार्यकर्ता के तौर पर काम करेंगी। उन्हें जो जिम्मेदारी दी जाएगी, उसका निर्वहन करेंगी।

वहीं, कांग्रेस छोड़ने के पीछे सुमन दहिया उन्होंने पार्टी में गुटबाजी को कारण बताया। सुमन दहिया के मुताबिक, हरियाणा कांग्रेस आज जिस भी स्थिति में है, उसके लिए भूपेंद्र सिंह हुड्डा ही जिम्मेदारी हैं। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री पर तीखा हमला भी बोला। उन्होंने कहा हरियाणा कांग्रेस में अब सबसे ज्यादा गुटबाजी है।

यहां पर बता दें कि वर्ष-2015 में हरियाणा महिला आयोग की तत्कालीन उपाध्यक्ष सुमन दहिया को कार्यकाल खत्म होने से पहले हटाने का विवाद पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में पहुंच गया था। पद से हटाई गईं अध्यक्ष कमलेश पांचाल व उपाध्यक्ष सुमन दहिया ने भाजपा सरकार के फैसले को चुनौती देते हुए याचिका दायर की थी।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक 

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप