चंडीगढ़, [अनुराग अग्रवाल]। Haryana Assembly Election 2019 में मतदान की तिथि नजदीक अाने के साथ ही राजनीतिक दलों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। भाजपा ने अपने चुनावी संकल्‍प पत्र (घोषणा पत्र) में विभिन्‍न पहलुओं पर ध्‍यान दिया है। हरियाणा में 75 से अधिक सीटों के साथ विधानसभा पहुंचने की तैयारी कर रही भाजपा का रास्ता इस बार गांवों से होकर गुजरेगा। भाजपा को अमूमन शहरी लोगों की पार्टी माना जाता है। इसके साथ ही भाजपा ने पूरे किए जा सकने वाले वादों पर जोर दिया है।

 संकल्प पत्र के जरिये भाजपा की ग्रामीण मतदाताओं का भरोसा जीतने की कवायद

पिछले पांच सालों के अंतराल में क्षेत्रवाद, परिवारवाद और असमान विकास कार्यों की पुरानी परिपाटी को तोडऩे का दावा करते हुए अपने ऊपर लगे सिर्फ शहरी पार्टी के तमगे को तोडऩे में काफी हद तक कामयाबी हासिल की, लेकिन पार्टी ने एक रणनीति के तहत इस पर गांवों पर खास फोकस किया है।      

भाजपा का चुनाव घोषणा (संकल्प) पत्र पार्टी की कुछ इसी तरह की रणनीति की तरफ इशारा कर रहा है। करीब दो माह की एक्सरसाइज के बाद तैयार हुए संकल्प पत्र में भाजपा ने प्रदेश को बिल्कुल भी भ्रम में रखने की कोशिश नहीं की। भाजपा ने पारदर्शी ढंग से सरकार चलाने के अपने दावे को चुनाव संकल्प पत्र में भी जाहिर करने का प्रयास किया है।

शहरी वर्ग का भी रखा पूरा ख्याल, पूर्व सैनिकों की चिंता के साथ शहरों में गरीबों को छत पर जोर

भाजपा ने प्रदेश की जनता के साथ एक भी ऐसा वादा नहीं किया, जो वित्तीय संसाधनों अथवा आधारभूत ढांचे की कमी से पूरा न हो सके। पार्टी ने प्रदेश को मुफ्तखोरी की आदत से भी दूर रखने की कोशिश की है। न मुफ्त बिजली की बात कही और न ही मुफ्त पानी और किसानों के कर्ज माफ करने का कोई वादा किया, जिसका मतलब साफ है कि भाजपा ने उन्हीं वादों पर अपना पूरा फोकस रखा है, जो वह पूरा कर सकती है, ताकि 2024 के चुनाव में भाजपा के सामने कोई सवाल न खड़े हो सकें।

भाजपा के चुनाव घोषणा पत्र में महिलाओं की शिक्षा, स्वास्थ्य और सुरक्षा की खास चिंता की गई है। राज्य में बड़ी आबादी महिलाओं की है, जिसे भरोसे में लेने की कोशिश हुई है। गांवों में रहने वाला बड़ा वर्ग किसानी-खेती से जुड़ा है। किसानों के लिए भाजपा ने 24 घंटे बिजली, ऋण की कीमत से सवा गुणा से अधिक भूमि गिरवी न रखने का कानून बनाने तथा 19 लाख किसानों को छह हजार रुपये प्रति साल प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि देने की बात कर उन्हें स्वावलंबी बनाने की दिशा में कदम बढ़ाया है।

 मंडी में आई फसल का सामूहिक बीमा, खेती में उद्यमिता के लिए 500 करोड़ का उद्यमशीलता कोष और हर फसल की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद के साथ पूर्व सैनिकों को पुनर्रोजगार की चिंता ऐसे वादे हैैं, जो गांवों में भाजपा की जीत का रास्ता तैयार करने में सहायक साबित हो सकते हैैं। शहरी वर्ग के लिए भाजपा ने 2022 तक हर व्यक्ति के लिए मकान के वादे को पूरा करने का संकल्प दोहराकर संदेश दिया है कि उसे शहरों की भी उतनी ही चिंता है, जितनी गांवों की है।

ग्रामीण मतदाता  -61 फीसद

शहरी मतदाता - 39 फीसद

कुल विधानसभा सीटें - 90

ग्रामीण मतदाताओं का प्रभाव - 55 से 60 सीट

2014 के चुनाव में भाजपा ने जीती ग्र्रामीण सीट - 37

मुख्‍य बिंदु

कमाऊ एवं टिकाऊ खेती

- पांच एकड़ से कम भूमि के किसानों को तीन हजार रुपये पेंशन।

- ऋण की कीमत से सवा गुणा अधिक भूमि नहीं होगी गिरवी, बनेगा कानून।

- एक लाख एकड़ सेमग्र्रस्त  भूमि को उपजाऊ बनाएंगे।

- किसान कल्याण प्राधिकरण को एक हजार करोड़।

हर युवाओं को काम

- सरकारी नौकरियों से पहले कामन पात्रता परीक्षा।

- नौकरियों के लिए आवेदन करने को वन टाइम फीस।

- उच्च शिक्षा के लिए बिना गारंटी लोन।

- गरीब परिवारों के छात्रों को मुफ्त कोचिंग।

- हर जिले में हर साल में तीन नौकरी मेले।

हरियाणवी खिलाड़ी भारत की शान

- एक हजार खेल नर्सरी बनेंगी।

- प्रौढ़ खेलों को बढ़ावा।

- ग्रामीण एवं परंपरागत खेलों के लिए खेल कैलेंडर।

- हर गांव में खेल स्टेडियम और व्यायामशाला।

- सभी कालेजों में फिटनेस सेंटर।

सशक्त नारी-समृद्ध नारी

- महिलाओं की सुरक्षा के लिए लगेंगे पांच लाख सीसीटीवी कैमरे।

-  एनीमिया मुक्त बच्चे और महिलाएं ।

- हर कस्बे में स्वयं सहायता समूहों के सामान की बिक्री को स्टोर।

- सार्वजनिक स्थानों पर सेनेटरी नैपकिन वेंडिंग मशीनें।

- शहरों में पिंक बस सेवा।

समाज कल्याण, हर एक का ख्याल

- कुशल कारीगरों को तीन लाख रुपये का बिना गारंटी लोन।

- अंत्योदय मंत्रालय का गठन।

- एससी युवाओं को बिजनेस शुरू करने को बिना गारंटी तीन लाख का लोन।

- सरकारी नौकरियों में पूरा होगा बैकलाग।

- असंगठित मजदूरों को स्मार्ट कार्ड।

हमारे सैनिक हमारा गौरव

- जिला स्तर पर शहीद स्मारक।

- प्राथमिक स्कूलों में गांव के शहीदों की मूर्तियां।

- स्कूलों में मनाया जाएगा शहीदों का जन्मदिन।

सरकारी कर्मचारी

- सरकारी कर्मचारियों की वरिष्ठता सूची।

- सभी विभागों में सेवा नियम बनेंगे।

- सरकारी कार्यालयों में महिलाओं के बच्चों के लिए क्रेच।

- वेतन विसंगतियां दूर होंगी।

ताकि स्वस्थ हो हर परिवार

- 30 साल की उम्र में हर व्यक्ति के स्वास्थ्य की चिंता एवं मेडिकल चेकअप।

- टीबी एवं एनीमिया मुक्त राज्य।

- हर जिला अस्पताल में विशेष जरूरत वाले बच्चों के लिए समर्पित बाल केंद्र।

- हर गांव व शहर में आरोग्यम मोटर बाइक एंबुलेंस सेवा।

शिक्षा से समृद्धि की ओर

- स्कूल कालेजों में नीड बेस्ड डिप्लोमा एवं डिग्री।

- पाठ्यक्रम में शामिल होंगे जल संरक्षण, पर्यावरण एवं भूमि संरक्षण।

- स्कूलों में आठवीं कक्षा से करियर काउंसलिंग।

ताकि उद्यमशील हो हर परिवार

- स्कूल व कालेज स्तर पर इनोवेशन ट्रेनिंग।

- नारनौल में एकीकृत मल्टी माडल लाजिस्टिक हब।

- हर जिले में एक स्थानीय औद्योगिक केंद्र।

- हर जिले में तीन उत्कृष्ट कारोबारियों को दो लाख का नगद पुरस्कार।

बुनियादी विकास तरक्की का आधार

- दिल्ली-सोनीपत-पानीपत क्षेत्रीय रैपिट ट्रांजिट सिस्टम का निर्माण।

- जींद-हांसी और करनाल-यमुनानगर नई रेल लाइन को निर्धारित समय में पूरा।

- गरीब परिवारों को सोलर पैनल के लिए 15 हजार की सब्सिडी।

- हर शहर में सार्वजनिक एवं मोबाइल शौचालय।

 यह भी पढें: हरियाणा कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष तंवर का बडा़ बयान, कहा- राहुल गांधी को खाए जा रहे कुछ पार्टी नेता

सुशासन हर पंचायत तक

 - जिला परिषदों, पंचायत समितियों व ग्र्राम पंचायतों के साथ शहरी निकायों को प्रशासनिक व वित्तीय अधिकार।

- ग्राम सभा की सिफारिश पर फिर खुलेगी चकबंदी।  

- भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ शिकायत को स्पेशल एंटी करप्शन काल सेंटर।

 यह भी पढ़ें: साईं मंदिर का दान पात्र खोला तो कमेटी के मेंबर रह गए दंग, निकले ऐसे नोट

पर्यावरण एवं जल संरक्षण मतलब जीवन की सुरक्षा

- एनसीआर में बनेंगे 50 तालाब।

- भू जल संरक्षण को हरियाणा ग्राउंड वाटर बोर्ड।

- सिंगल यूज प्लास्टिक पर बैन

- हर घर में नल से जल।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


 



 

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप