PreviousNext

गुजरात की बाजी: पहले चरण के मतदान में इन सीटों पर है सबकी नजर

Publish Date:Thu, 07 Dec 2017 04:44 PM (IST) | Updated Date:Thu, 07 Dec 2017 05:20 PM (IST)
गुजरात की बाजी: पहले चरण के मतदान में इन सीटों पर है सबकी नजरगुजरात की बाजी: पहले चरण के मतदान में इन सीटों पर है सबकी नजर
गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण में 9 दिसंबर को मतदान होना है। इस चरण में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी सहित कई अहम चहरे अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।

अहमदाबाद, [शत्रुघ्न शर्मा]। गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण में एक दर्जन से अधिक सीटें ऐसी हैं जिन पर सबकी नजरें टिकी हैं। मुख्यमंत्री विजय रूपाणी की राजकोट सीट, भाजपा अध्यक्ष की भावनगर, कांग्रेसी दिग्गज अर्जुन मोढ़वाडिया की पोरबंदर, कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता शक्तिसिंह गोहिल की मांडवी के अलावा जामनगर, गोंडल, सूरत की सीटों पर भी ऐसे उम्मीदवार मैदान में हैं, जिनके कारण मुकाबला काफी रोचक बन गया है।

 

राजकोट पश्चिम से सीएम रूपाणी मैदान में है उनके खिलाफ इन्द्रनील राज्यगुरु मैदान में है, राज्यगुरु की संपत्ति 145 करोड़ है तथा इस विधानसभा क्षेत्र में पाटीदार, ब्राम्हण व मुस्लिम मतदाताओं की संख्या अच्छी खासी होने से कांग्रेस काफी जोश में है। राज्यगुरु इस चुनाव में सबसे अधिक मालदार प्रत्याशी हैं।

 

पोरबंदर से रुपाणी केबिनेट के सदस्य बाबू बोखीरिया चुनाव लड रहे हैं उनके खिलाफ कांग्रेस के दिग्गज अर्जुन मोढ़वाडिया हैं जो पिछला चुनाव बोखीरिया से हार गए थे। 50 करोड की लाइम स्टोन चोरी मामले में बोखीरिया को 3 साल की सजा सुनाई गई थी, जिस पर हाईकोर्ट की रोक है।

 

यह भी पढ़ें: गुजरात चुनावः भाजपा से 9 फीसद वोटों का अंतर पाटना कांग्रेस के लिए बड़ी चुनौती

 

भावनगर वेस्ट से भाजपा अध्यक्ष जीतू वाघाणी चुनाव लड रहे हैं, शुरुआत में उनके खिलाफ करडिया राजपूतों के विरोध के चलते उनकी इस सीट पर दावेदारी को कठिन चुनौती माना जा रहा था। जामनगर की तीन सीटों पर राज्यसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए नेता मैदान में हैं। कांग्रेस ने उनके खिलाफ दमदार उम्मीदवार उतारे हैं, दल बदल करने से इनकी छवि पर भी असर पडा है। जामनगर दक्षिण से भाजपा के पूर्व अध्यक्ष आर सी फलदू मैदान में हैं, पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल की करीबी वसुबेन त्रिवेदी का यहां टिकट काटकर फलदू को मैदान में उतारा गया है।

 

मांडवी से कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता व दिग्गज वकील शक्तिसिंह गोहिल चुनाव लड रहे हैं। गत उपचुनाव में अबडासा से विधायक चुने गए, लेकिन इस बार उन्होंने सीट बदल ली। धोराजी से पाटीदार नेता हार्दिक पटेल के साथी ललित वसोया कांग्रेस प्रत्याशी हैं, यह सीट भाजपा सांसद व दबंग नेता विट्ठल रादडिया के दबदबे वाली है, इसमें वसोया की जीत राजकोट की राजनीति में समीकरण बदल सकती है।

 

कुतियाणा सीट पर गॉड मदर संतोकबेन जाडेजा का विधायक बेटा कांधल मैदान में है, जबकि गोंडल से भाजपा विधायक जयराजसिंह जाडेजा की पत्नी गीता बा चुनाव लड रही हैं। जयराज पर हत्या का आरोप है, उन्हें आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई, है जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक के साथ जाडेजा को गुजरात आने की मोहलत दे दी है।

 

 

 

सूरत की कई सीटों की हॉट चर्चा है, लिंबायत से चुनाव लड रही विधायक संगीता पाटिल ने घोडे पर सवार होकर झांसी की रानी के वेश मे जाकर नामांकन पत्र भारा था, अब वे उर्दू पत्र को लेकर चर्चा में हैं। मजूरा से सबसे युवा विधायक हर्ष संघवी फिर मैदान में हैं, जबकि वराछा में नामांकन के दौरान सबसे बड़ी रैली निकालकर कुमार कानाणी चर्चाओं में आ गए हैं।

 

यह भी पढ़ें: पर्दे के पीछे से आखिरी दम का जोर, आज थम जाएगा भोंपू का शोर

 

क्यों चर्चा में इन्द्रनील 

सीएम के खिलाफ चुनाव लड़ रहे इन्द्रनील राज्यगुर के गत चुनाव में 122 करोड़ की प्रॉपर्टी थी और वह भाजपा नेता बलवंत सिंह राजपूत (सवा दो सौ करोड़) के बाद दूसरे सबसे अमीर विधायक हैं।  उनके पास तो साढ़े पांच करोड़ से अधिक कीमत के 13 वाहन हैं, जिनमें कई महंगी लग्जरी कारें हैं। इनमें लेम्बोर्गिनी जैसी महंगी कार भी शामिल है।

 

26 जून 1966 को जन्मे इंद्रनील राजगुरु 12वीं क्लास तक पढ़े हैं। होटल व्यवसायी इंद्रनील महंगी कारों का शौक रखते हैं। पोस्टर लगाने को लेकर गत दिनों भाजपा कार्यकर्ताओं ने इन्द्रनील के छोटे भाई दीपू पर हमला कर दिया, जिसके बाद इन्द्रनील ने सीएम के राजकोट में स्थित निजी बंगले को घेरकर हंगामा मचा दिया था। 

 

यह भी पढ़ें: गुजरात में बदलाव के आसार नहीं, हार्दिक, अल्पेश और जिग्नेश के इस्तेमाल से चूक गई कांग्रेस

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Jagran Special on important seats of First phase of Gujarat Assembly Election(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

गुजरात में बदलाव के आसार नहीं, हार्दिक, अल्पेश और जिग्नेश के इस्तेमाल से चूक गई कांग्रेसगुजरात में पोस्‍टर वार, अहमद पटेल ने कहा- हार के डर से BJP ने फैलाई झूठी अफवाह