नई दिल्ली, जेएनएन। दिल्ली में आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सत्ता पक्ष और विपक्ष में पिछले एक महीने से तकरीबन हर सप्ताह विभिन्न मुद्दों पर भिड़ंत हो रही है। शुक्रवार को दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल द्वारा पत्रकार वार्ता कर 4-15 नवंबर तक ऑड-ईवन स्कीम (Odd-Even scheme) लागू करने को लेकर भाजपा ने इसकी मंशा पर सवाल उठाए हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता विजय गोयल ने शनिवार को कहा कि प्रदूषण अभी से चुनाव का सबसे बड़ा मुद्दा बन गया है और इस विषय पर मुख्यमंत्री लगातार झूठ बोल रहे हैं। उन्होंने केजरीवाल द्वारा यह कहने पर कि दिल्ली में 25 फीसद  प्रदूषण कम हुआ है? पर सवालिया लहजे में कहा कि मुख्यमंत्री पीएम 10 के बारे में कुछ नहीं बोल रहे हैं? जबकि इसका स्तर 2014 में इसका स्तर 295 था और 2018 में भी 277 है। इसी तरह से कार्बन मोनो साइड का स्तर भी कम नहीं हुआ है।

विजय गोयल ने यह भी कहा कि दिल्ली में प्रदूषण यदि कुछ कम हुआ है तो उसका कारण केंद्र सरकार का काम है। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भी कहा है कि दो साल में दिल्ली को प्रदूषण मुक्त किया जाएगा।

वहीं, अरविंद केजरीवाल यह कह रहे हैं कि नवंबर में पड़ोसी राज्यों में पराली जलने से दिल्ली में प्रदूषण होगा। उन्हें मालूम होना चाहिए कि पराली के सुरक्षित निस्तारण के लिए केंद्र सरकार ने हरियाणा और पंजाब के किसानों को 11 हजार करोड़ रुपये दिए गए हैं।

विजय गोयल के 6 सवाल

1. केजरीवाल बताएं पिछले दो साल सम-विषम क्यों नहीं किया अब चुनाव के पहले क्यों कर रहे हैं?

2. विभिन्न एजेंसियों का कहना है कि सम-विषम से वायु प्रदूषण का स्तर कम नहीं होता है। ऐसे Odd-Even क्यों लागू किया जा रहा है? 

3. एनजीटी को दिल्ली सरकार ने लिखकर दिया है उसके पास पब्लिक ट्रांसपोर्ट की कमी है। सरकार यह बताए कि बसों की कमी क्यों नहीं दूर की गई?

4. प्रदूषण कम करने को लेकर समीक्षा कमेटी के सुझाव पर काम क्यों नहीं किया।

5. सरकार को पांच हजार बसें खरीदनी थी, लेकिन एक हजार बसें कम हो गईं। ऐसे क्यों?

6. स्मॉक फ्री टॉवर लगाने थे, मशीन से सड़कों की सफाई करनी थी जिसपर दिल्ली सरकार ने कोई काम नहीं किया है।

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप