नई दिल्‍ली, एएनआइ। Delhi Assembly Election 2020: दिल्‍ली की एक चुनावी सभा में गृहमंत्री अमित शाह ने दिल्‍ली में साफ पानी और प्रदूषण के मुद्दे को उठाया। नजफगढ़ में हो रही रैली में शाह ने आम आदमी पार्टी के प्रमुख केजरीवाल को चैलेंज देते हुए कहा कि आपने कहा था कि यमुना के पानी को साफ करेंगे। मैं आपको चैलेंज करता हूं कि आप शर्ट उतार कर यमुना में एक डुबकी लगा कर दिखा दें, तब आपको पता चलेगा कि यमुना की हालत क्‍या है।

दिल्‍ली में प्रदूषण के लिए केजरीवाल सरकार को बताया जिम्‍मेवार

अमित शाह ने कहा कि उन्‍होंने कहा कि दिल्‍ली की हवा को साफ करेंगे। यह उनका ड्रामा था, सारी बयानबाजी विज्ञापन थी। उन्‍होंने सवालिया लहजे में कहा कि क्‍या दिल्‍ली सरकार में कोई इसके लिए जिम्‍मेवार है? दिल्‍ली में प्रदूषण के लिए कौन जिम्‍मेवार है? यह केजरीवाल सरकार की निष्क्रियता को दिखाता है। दिल्‍ली की हवा में जहर घुला है।

पहले से उठ रहा दिल्ली में पानी का मुद्दा

बता दें कि दिल्‍ली में काफी पहले से साफ पानी का मुद्दा उठाया जा रहा है। इस मु्द्दे को सबसे पहले मोदी के मंत्री और बिहार के कद्दावर नेता रामविलास पासावान ने उठाते हुए अरविंद केजरीवाल पर तंज कसा था। इसके बाद से यह केंद्र और राज्‍य सरकार के बीच काफी अहम मुद्दा बना था। 

रामविलास पासवान के बयान के बाद मचा था हंगामा

दिल्‍ली की पानी की गुणवत्‍ता पर जमकर राजनीति के बाद आम आदमी पार्टी भाजपा पर काफी हमलावर हो गई थी। इसके बाद पासवान ने कहा था कि यह पानी की क्‍वालिटी को हमने नहीं चेक किया है। यह जांच भारत की मानक संस्‍था 'भारतीय मानक ब्यूरो' (Bureau of Indian Standards) ने किया है। उसने बताया कि दिल्‍ली का पानी उनके बनाए मानक के अनुरूप शुद्धता पर सही नहीं पाया जा रहा है।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस