नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। जब मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और आम आदमी पार्टी के दिल्ली संयोजक चुनाव प्रचार में लगे थे तो तीन ऐसे नेता थे जो चुनाव प्रबंधन की महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे थे। इन नेताओं ने पार्टी को जिताने के लिए रात दिन एक कर दिया। इन नेताओं में पहला नाम राज्यसभा सदस्य संजय सिंह का है। उनके ऊपर पार्टी पर हो रहे राजनीतिक हमलों का जवाब देने की जिम्मेदारी थी।

वहीं पार्टी के राष्ट्रीय सचिव पंकज गुप्ता के ऊपर चुनाव प्रचार अभियान की कमान थी। वहीं तीसरा नाम जस्मिन शाह का है। उनके ऊपर मीडिया मैनेजमेंट की जिम्मेदारी थी।

बता दें कि दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 में आम आदमी पार्टी ने बड़ी जीत दर्ज की है। पार्टी ने केजरीवाल के नेतृत्व में 70 सीटों में से 62 पर जीत दर्ज की है। इस चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) को 70 में से जिन 8 सीटों पर हार का सामना करना पड़ा है। इसमें तीन सीटों पर आप के विधायक व पांच नए प्रत्याशी थे। इन आठ सीटों में जो तीन सीटें आप के पूर्व विधायकों की हैं।

इनमें लक्ष्मी नगर से आप विधायक नितिन त्यागी, रोहताश नगर से सरिता सिंह और घोंडा से श्रीदत्त शर्मा हैं। वहीं इस चुनाव में आप के पांच नए चेहरे भी चुनाव हार गए हैं। इसमें विश्वास नगर से दीपक सिंगला, बदरपुर से राम सिंह नेताजी, रोहिणी से राजेश नामा बंशीवाला, करावल नगर से दुर्गेश पाठक, गांधी नगर से नवीन चौधरी शामिल हैं।

चुनाव परिणाम आने तक चर्चा के केंद्र में रहे हनुमान जी

चुनाव प्रचार से लेकर परिणाम तक चर्चा का विषय बने रहे सभी के आराध्य हनुमान जी ने आखिरकार केजरीवाल को अपना आशीर्वाद दे दिया। केजरीवाल ने भी कहा है कि हनुमान जी की कृपा से वह फिर से दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे।

चुनाव-प्रचार के दौरान हनुमान जी को लेकर आप और भाजपा के नेताओं के बीच जोरदार जुबानी जंग देखने को मिली थी। परिणाम आने के बाद केजरीवाल ने कहा कि आज मंगलवार है और हनुमान जी का दिन है। हनुमान जी ने दिल्ली पर कृपा बरसाई है। मैं इसके लिए हनुमान जी को धन्यवाद देता हूं। हम प्रार्थना करते हैं कि हनुमान जी हमें सही रास्ता दिखाते रहें ताकि हम अगले पांच वर्षो तक लोगों की सेवा करते रहें।

 

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस