नई दिल्‍ली, एएनआइ। Delhi Congress President Subhash Chopra: शीला दीक्षित के निधन के बाद से खाली चल रहे दिल्‍ली प्रदेश कांग्रेस को अब उसका मुखिया मिल गया है। यह जिम्‍मेदारी सुभाष चोपड़ा को दी गई है। वहीं कीर्ति आजाद (Kirti azad) को भी राज्य की कैंपेन कमिटी का चीफ चुना गया है। 

कुछ दिनों से चल रहा था कीर्ति का नाम

बता दें कि भाजपा से हाल में ही कांग्रेस पार्टी का दामन थामने वाले बिहार के नेता कीर्ति आजाद पर भरोसा जताते हुए उनके अध्‍यक्ष बनने की कामना को पंख लगा दिए थे। कुछ दिनों से मीडिया में यह खबरें तैर रहीं थी कि कीर्ति आजाद के नाम पर जल्‍द ही मुहर लग सकती है।

पूर्वांचल की राजनीति में उतरी कांग्रेस

हालांकि इन सब अटकलबाजियों के बीच सुभाष चोपड़ा पर कांग्रेस ने भरोसा जताया है। वहीं कीर्ति आजाद को भी दिल्‍ली की सियायत में उतार कर कांग्रेस ने पूर्वांचल की राजनीति को हवा दे दी है।

शीला के निधन के बाद से खाली था पद

बता दें कि अब सुभाष चोपड़ा का नाम फाइनल हो चुका है। पूर्व मुख्‍यमंत्री शीला दीक्षित के 20 जुलाई 2019 को निधन के बाद से दिल्‍ली का कांग्रेस अध्‍यक्ष पद खाली पड़ा था। सोनिया गांधी ने कीर्ति आजाद और सुभाष चोपड़ा पर भरोसा जताते हुए आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारी के लिए कांग्रेस को तैयार करने की कोशिश की है।

पार्टी को मिलेगी नई ताकत

बता दें कि दिल्‍ली में विधानसभा चुनाव काफी नजदीक है। ऐसे में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के बीच चल रहे मनमुटाव को कम करने कोशिश की गई है। पार्टी में चल रही आंतरिक गुटबाजी से इसके चुनाव नतीजों पर काफी फर्क पड़ा है इसलिए कांग्रेस की कोशिश होगी की जल्‍द से जल्‍द कांग्रेस पार्टी एक हो और नए कप्‍तान के अंदर पूरे जोश और ताकत से दिल्‍ली में आम आदमी पार्टी और भाजपा का मुकाबला करे।

1575 करोड़ की लागत से बने सिग्नेचर ब्रिज पर कैमरे लगाने का फंड ही नहीं

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस