नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। द्वारका में पीएम मोदी की रैली में सांसद प्रवेश वर्मा ने दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि जब मुख्यमंत्री को हार नजर आने लगी तो भगवान हनुमान याद आने लगे। पांच साल तक टोपी पहनकर पूरी दिल्ली में घूमते समय उन्हें भगवान हनुमान की याद नहीं आई। पिछले पांच साल में न तो मंदिरों के पुजारियों की सुध ली और न ही गुरुद्वारों के ग्रंथियों की। सिर्फ सुध ली तो मस्जिदों के इमामों की, जिन्हें जनता के टैक्स के पैसे से 18 हजार रुपये महीने दिए जा रहे हैं।

टुकड़े-टुकड़े गैंग का साथ देने की बात कर रहे हैं सीएम

इस दौरान तल्ख टिप्पणी करते हुए उन्‍होंने कहा कि जो मुख्यमंत्री टुकड़े-टुकड़े गैंग का साथ देने की बात कर रहे हों, वह दिल्ली का भला कैसे कर सकता है। उपस्थित जनसमूह को भारत माता की कसम देते हुए कहा कि अगर दिल्ली को बचाना है तो अपनी जान की बाजी लगा दो। घर-घर जाकर केजरीवाल की नीयत से लोगों को अवगत कराओ और कमल का बटन दबाकर भाजपा को भारी मतों से विजयी बनाओ। चुनाव आयोग की ओर से लगाए गए 96 घंटे के प्रतिबंध के पूरा होने के बाद प्रवेश वर्मा पहली बार जनता को संबोधित कर रहे थे।

सीएम ने मांगे थे सेना से सुबूत

वर्मा ने कहा कि दिल्‍ली के सीएम अपने आपको दिल्ली का बेटा कहते हैं।सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि हमारी सेना ने पाक में घुसकर आतंकियों का सफाया किया था, मुख्यमंत्री ने सेना से सुबूत की मांग की थी। पूछते फिर रहे थे कि क्या सच में सर्जिकल स्ट्राइक किया गया है। उन्होंने लोगों से कहा कि मैं आपसे पूछना चाहता हूं कि क्या दिल्ली का बेटा ऐसा सवाल पूछ सकता है। उन्होंने कहा कि हम सभी दिल्ली के बेटे हैं। हमने तो सेना से कोई सवाल नहीं किया। हमें अपनी सेना पर भरोसा है। दिल्ली का बेटा राजधानी को बचाने व देश की आन, बान और शान को कायम रखने का कार्य करता है।

पिता के समय अनधिकृत कॉलोनियों पर मंडराये खतरे को किया याद   

उन्होंने कहा कि जब मेरे पिता साहिब सिंह वर्मा मुख्यमंत्री थे, उस दौरान अनधिकृत कालोनियों पर टूटने का खतरा मंडरा रहा था। मेरे पिताजी खुद हाईकोर्ट गए और जनता का पक्ष जज साहब के सामने रखा। उसके बाद अनधिकृत कॉलोनियों के लाखों लोगों को राहत मिली थी। प्रदूषण के मुद्दे पर प्रवेश वर्मा ने कहा कि पांच वर्ष पहले मुख्यमंत्री खांसते थे और अब पूरी दिल्ली खांस रही है। राज्य सरकार ने कोई कदम नहीं उठाए हैं। केंद्र ने ही जनता को कुछ हद तक राहत दी और ईस्टर्न वेस्टर्न पेरिफेरल बनाकर दिल्लीवासियों को प्रदूषण से राहत देने का काम किया। उन्होंने सीएम को चुनौती देते हुए कहा कि विकास के मुद्दे पर हमसे बात करें। अगर वे कोई भी स्कूल, कॉलेज, फ्लाईओवर जिसका उन्होंने शिलान्यास किया हो, दिखा दें तो मैं राजनीति से संन्यास ले लूंगा।

भाजपा पांच सालों तक मुहैया कराएगी सुविधाएं 

उन्होंने बिजली-पानी फ्री के मुद्दे पर सीएम को घेरते हुए कहा कि यह सब सिर्फ 31 मार्च तक है और इस योजना को कोई नाम नहीं दिया गया है। वर्मा ने कहा कि भाजपा यह सभी सुविधाएं पूरे पांच साल के लिए मुहैया कराएगी। उन्होंने कहा कि केंद्र में अभी भाजपा की साढ़े चार साल सरकार है। अगर फिर से आप आ गई तो यही बात दोहराई जाएगी कि केंद्र मुझे काम नहीं करने दे रही है। फिर से दिल्ली का विकास रुक जाएगा। हम आपसे अपील करते हैं कि इस तरह का अभिनव प्रयोग न करें। भाजपा सरकार बनाएं जिससे कि दिल्ली वालों को पीएम मोदी के मजबूत हाथ का सहारा मिल सके और विकास की रफ्तार तेज हो।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस