नई दिल्ली, जेएनएन। एक बार फिर से दिल्ली में 4 नवंबर से सम-विषम ( Odd -Even) योजना लागू हो रही है। इस बीच दिल्ली सरकार का नया फरमान आया है। इस योजना के तहत वाहनों पर लगे सीएनजी के पूराने स्टीकर मान्य नहीं होगे। मिली जानकारी के मुताबिक, सरकार नए सिरे से सीएनजी स्टीकर (CNG Sticker) बांटेगी सोमवार को परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने इसकी जानकारी दी।

सम-विषम योजना लागू करने लिए हुई बैठक

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने सम विषय योजना की तैयारियों के लिए बैठक की। इस बैठक में कहा गया है कि सड़क पर चलने वालों सभी वाहनों की पहचान के लिए स्टीकर लगाना जरूरी है और ये स्टीकर दिल्ली सरकार की तरफ से दिए जाते हैं। इससे पहले भी ये स्टीकर दिल्ली सरकार ने ही दिए थे।

2016 में बटे थे स्टीकर

इससे पहले जब जनवरी 2016 में पहली बार सम-विषम योजना लागू हुई थी तो दिल्ली सरकार की तरफ से ये सीएनजी स्टीकर बांटे गए थे। इसके बाद जब दोबारा से अप्रैल 2016 में इस योजना को लागू किया गया तो पूराने स्टीकर को ही मान्य माना गया था। अब सरकार का कहना है कि इस बार तीसरी बार सम-विषम योजना लागू हो रही है, तो इस बार दोबारा से नए स्टीकर बांटने होंगे। दिल्ली सरकार का कहना है कि अब दिल्ली में वाहनों की संख्या बढ़ी है इसको ध्यान में रखते हुए ये फैसला लिया गया है। आपको बता दें कि दिल्ली में फिलहाल करीब 15 लाख सीएनजी वाहन चलते हैं।

दुपहिया पर बना हुआ संशय

इस बैठक में अभी तक साफ नहीं हो पाया है कि सम-विषय योजना से दुपहिया वाहनों और महिला चालकों को छूट मिलेगी या नहीं। फिलहाल दिल्ली सरकार इसके लिए विचार-विमर्श कर रही है।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021