नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दिल्ली के सियासी दंगल में दाव आजमा रहे उम्मीदवारों की स्थिति काफी हद तक स्पष्ट होती नजर आ रही है। उम्मीदवारी के लिए दाखिल पर्चो और हलफनामों की जांच के बाद 70 विधानसभा सीट के लिए 698 उम्मीदवार मैदान में बचे हैं। इनमें से 615 पुरुष व 83 महिला उम्मीदवार शामिल हैं। 24 जनवरी को नामांकन वापस लेने की अंतिम तारीख है, इसलिए शुक्रवार को ही स्पष्ट हो पाएगा कि चुनावी मैदान में कितने उम्मीदवार बचते हैं।

बचे उम्मीदवारों में हैं 615 पुरुष व 83 महिलाएं
मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय (सीईओ) के अनुसार, नामांकन प्रक्रिया के दौरान 1009 उम्मीदवारों ने कुल 1528 पर्चे भरे थे। इनमें 821 पुरुष व 188 महिला उम्मीदवार शामिल थीं। नामांकन पत्रों की जांच के बाद 311 उम्मीदवारों के नामांकन पत्र खारिज हो गए। इसमें ज्यादातर तीनों प्रमुख दलों (आम आदमी पार्टी, भाजपा व कांग्रेस) के प्रत्याशियों के कवरिंग उम्मीदवार, निर्दलीय व छोटे दलों के प्रत्याशी शामिल हैं।

सबसे अधिक नई दिल्ली सीट से 88 नामांकन पत्र भरे गए थे। इनमें से 54 खारिज हो गए और 34 नामांकन पत्र स्वीकृत हुए। इस सीट से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, भाजपा प्रत्याशी सुनील यादव व कांग्रेस प्रत्याशी रोमेश सब्बरवाल चुनाव लड़ रहे हैं। इस सीट पर सबकी नजर रहेगी। इस सीट से भारी संख्या में निर्दलीय उम्मीदवारों ने पर्चा भरा था। पर्चो की जांच के बाद नई दिल्ली सीट से सबसे अधिक 28 उम्मीदवार मैदान में हैं, जिनमें से 26 पुरुष व दो महिला हैं। 11 निर्दलीय भी मैदान में हैं। वहीं पटेल नगर से सबसे कम चार उम्मीदवार हैं, जिसमें आप, भाजपा व कांग्रेस के अलावा बसपा उम्मीदवार शामिल हैं। इसके अलावा कस्तूरबा नगर सीट से भी पांच उम्मीदवार ही हैं।

बता दें कि आगामी 8 फरवरी को दिल्ली  में मतदान होना है, जबकि 11 फरवरी को वोटों की गिनती होगी और नतीजे घोषित कर दिए जाएंगे।

दिल्ली चुनाव से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस