नई दिल्ली, एनएनआइ। JNU sedition case: देश के नामी संस्थानों में शुमार दिल्ली स्थित जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (Jawaharlal Nehru University) में वर्ष 2016 में हुए राजद्रोह मामले में पूर्व छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार व अन्य के खिलाफ मुकदमा चलाने के मुद्दे पर शुक्रवार को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट (Delhi's Patiala House Court) में सुनवाई के दौरान दिल्ली सरकार के वकील ने बताया कि मंजूरी देने से संबंधित मामला फिलहाल लंबित है। इस पर कोर्ट ने इस मामले की जांच से जुड़े अधिकारी को तलब किया है। अब इस मामले की सुनवाई के लिए 11 दिसंबर की तारीख तय की गई है। 

यहां पर बता दें कि दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 के मद्देनजर यह मुद्दा एक बार फिर गरमा सकता है। दिल्ली में मुख्य विपक्षी दलों में शुमार भारतीय जनता पार्टी के नेता आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) सरकार पर कन्हैया कुमार समेत अन्य आरोपितों पर राजद्रोह का मुकदमा नहीं चलाने की अनुमति नहीं देने पर कड़ा रुख अपना चुके हैं।

जेएनयू के सफाई कर्मियों ने कुलपति को लिखा पत्र

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के सफाई कर्मचारी पिछले तीन दिनों से कैंपस में धरना दे रहे हैं। जेएनयू के विभिन्न केंद्रों में काम कर रहे सफाई कर्मचारियों ने गुरुवार को कुलपति प्रो एम.जगदीश कुमार को अपनी कई मांगों के सिलसिले में पत्र भी लिखा है। सफाई कर्मचारियों ने मांग करते हुए कहा है कि उनके अकाउंट में 2500 रुपये का दिवाली बोनस जल्द से जल्द दिया जाए। सफाई कर्मचारियों के लिए सुरक्षा उपकरणों के इंतजाम किए जाएं। साथ ही शिकायत निवारण सेल का गठन किया जाए, जिसमें शिक्षक, स्टाफ और कर्मचारियों के प्रतिनिधि शामिल किए जाएं।  

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप