नई दिल्‍ली, जागरण संवाददाता। Delhi Assembly Election 2020: दिल्ली के सबसे पुराने इलाकों  में शुमार लक्ष्मी नगर क्षेत्र अन्य विधानसभा क्षेत्रों में से एक है। वर्ष 2008 में परिसीमन के बाद लक्ष्मी नगर विधानसभा क्षेत्र बना था। यहां 1993 से 2008 तक चार बार कांग्रेस पार्टी से डॉ. एके वालिया विधायक रहे है। 2013 चुनाव में 49 दिन की सरकार में आम आदमी पार्टी से विनोद कुमार बिन्न विधायक रहे। वर्तमान में यहां से आम आदमी पार्टी के नीतिन त्यागी विधायक हैं। विधानसभा क्षेत्र में कई प्रदेश व जाति के लोग रहते है। जातीय दृष्टि से यहां ब्राह्माण और वैश्य अधिक हैं।

पूर्वांचल और उत्‍तराखंड के लोगों की संख्‍या है काफी

पूर्वांचल, उत्तराखंड और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लोग की संख्या में हैं। साथ ही अनुसूचित जाति के वोटर भी अधिक है। लक्ष्मी नगर विधानसभा क्षेत्र में घनी आबादी वाली कई कॉलोनी हैं। यहां मिश्रित आबादी है, जिसमें मुस्लिमों व अन्य समुदाय के लोग मिल झुलकर एक साथ रहते है।

प्रमुख इलाके

  1. लक्ष्मी नगर
  2. किशन कुंज
  3. बैंक एंक्लेव
  4. शकरपुर गांव
  5. गणेश नगर
  6. प्रियदर्शनी विहार
  7. शकरपुर स्कूल ब्लॉक
  8. साउथ गणेश नगर
  9. पांडव नगर
  10. पांडव नगर कांप्लेक्स
  11. समसपुर गांव
  12. मंडावली ए ब्लॉक
  13. साकेत ब्लॉक
  14. किशन कुंज
  15. रमेश पार्क

क्षेत्र की विशेषता

लक्ष्मी नगर विकास मार्ग स्थित यमुनापार में एक बड़े पैमाने पर आवासीय क्षेत्र है। यहां पहले परिसीमन के दौरान दो विधानसभा क्षेत्र गीता कॉलोनी और मंडावली के दो-दो वार्डों को मिलाकर नया विधानसभा क्षेत्र लक्ष्मी नगर बनाया गया। इन दोनों विधानसभा क्षेत्रों के वार्डों को अलग-अलग विधानसभा क्षेत्रों में मिला दिया गया। यह क्षेत्र भारत और नेपाल के विभिन्न राज्यों से दिल्ली आने वाले चार्टर्ड एकाउंडेंट (सीए) कोर्स का अध्ययन करने वाले छात्रों के लिए आवासीय क्षेत्र में जाना जाता है। लक्ष्मी नगर विकास मार्ग पर मेट्रो स्टेशन के पास लोकप्रिय व्यावसायिक परिसर है। यह दिल्ली मेट्रो के आनंद विहार आईएसबीटी के ब्लू लाइन पर है। यहां से अक्षरधाम मंदिर करीब पांच सौ मीटर की दूरी पर है। लक्ष्मी नगर अपने खेल मैदान के लिए बहुत प्रसद्धि है।

पिछले विधानसभा चुनाव 2015 के आंकड़े

  • - नीतिन त्यागी (विजयी), वोट पड़े- 58,229 (42.54%)
  • - बीबी त्यागी (भाजपा), वोट पड़े- 53,383 (39.00%)
  • - डॉ एके वालिया (कांग्रेस), वोट पड़े- 23,627 (17.26%)

----

कुल मतदाता : 2,18,904

पुरुष मतदाता : 1,22,148

महिला मतदाता : 96,750

---

क्षेत्र के वार्ड निगम पार्षद (पार्टी)

किशन कुंज हिमांशी पांडेय (भाजपा)

लक्ष्मी नगर संतोष पाल (भाजपा)

शकपुर नीतू त्रिपाठी (भाजपा)

पांडव नगर गोविंद अग्रवाल (भाजपा)

जातीय समीकरण

  • वैैश्य- 27%
  • पंजाबी- 13%
  • मुस्लिम- 9%
  • ब्राह्मण- 25%
  • पिछड़ा वर्ग - 8%
  • अनुसूचित जाति- 6%
  • अन्य - 12

प्रमुख मुद्दे

1 लक्ष्मी नगर विधानसभा क्षेत्र पिछले पांच सालों में जनता को दिल्ली सरकार द्वारा साफ पानी तक नहीं मिल पाया है। इन सालों में विधानसभा क्षेत्र के कई इलाकों में यह समस्या रही है। विधानसभा क्षेत्र में पानी इतना बदबू दार आया करता था कि उसे पीना तो दूर उसे घर के कामकाज में उसका उपयोग भी नहीं किया जा सकता है।

स्थानीय मतदाताओं का कहना है कि पानी की समस्या को लेकर जल बोर्ड विभाग व विधायक कार्यालय में शिकायते दी जाती है लेकिन किसी की कान पर जूं तक नहीं रेंगती थी। जो लोग आर्थिक रूप से ठीक है, तो वह बाजार से खरीदकर पानी पी रहे हैं, लेकिन इलाके के कुछ लोग ऐसे भी है, जिनको सप्लाई के दूषित पानी को मजबूरन उबालकर पीना पड़ रहा है। विभागीय लापरवाही के कारण दूषित पानी की आपूर्ति कर लोग बीमार पड़ रहे हैं। दूषित पानी में डिटोल डालने के बाद भी पानी की बदबू कम नहीं होती है, ऐसे में मजबूरन में इसी पानी से नहाना पड़ता है। इन पांच सालों में विधानसभा क्षेत्र के लोगों साफ पानी तक सरकार मुहैया नहीं करवा पाई है, लोग साफ पानी के लिए तरस गए।

2 लक्ष्मी नगर इलाके में बहुत से ऐसे इलाके है जहां कोर्ट के आदेश के बाद भी सड़कों पर सख्ती नहीं दिख रही है। क्षेत्र में जगह-जगह अवैध पार्किंग बनी हुई है दुकानदारों ने फुटपाथ पर दुकान का सामान रखकर अतिक्रमण कर रखा है। कोर्ट के आदेशों का उल्लंघन कर न केवल लोग अतिक्रमण कर रहे बल्कि राहगीरों के सफर में मुश्किलें खड़ी कर रहे हैं। यहां सिर्फ सरकारी कागजों में कार्रवाई होती है। अतिक्रमण का नजारा विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न इलाकों में देखने को मिलेगा, जहां दुकानदारों ने फुटपाथ पर धड़ल्ले से दुकाने सजा रखी है। इन मार्गों पर बेनर, रेहड़ी-पटरी, ढाबा, फर्नीचर से लेकर अन्य कई तरह की दुकानों के दुकानदारों ने फुटपाथ पर अवैध कब्जा कर रखा है। यहां दुकानदार ही फुटपाथ पर दुकान का सामान रखकर बेच रहे हैं। इस मार्गो पर सुबह से लेकर शाम तक यही स्थिति बनी रहती है। फुटपाथ व सड़क पर अतिक्रमण के चलते राहगीरों को वाहनों की आपाधापी के बीच से गुजरना पड़ता है इसके बावजूद न तो जनप्रतिनिधि ध्यान देते हैं और न ही अधिकारी। कोर्ट का सख्त आदेश है कि सड़क के फुटपाथों से अतिक्रमण हटाएं, लेकिन अधिकारी इस पर भी अमल करते नही दिखते हैं। फुटपाथ पर दुकान का सामान रखकर न सिर्फ दुकानदार रहागीर का रास्ता नहीं रोकते हैं, बल्कि कोर्ट के आदेशों की भी धज्जियां उड़ाने पर लगे हुए है।

3 लक्ष्मी नगर विधानसभा क्षेत्र में करीब 20 साल पुरानी सीवर लाइन डली हुई है, सीवर लाइन की समय से मरम्मत न होने के कारण अक्सर जाम की समस्या लगी रहती है। जलबोर्ड अधिकारी भी काम करने को तैयार नहीं है। मंडावली शिव मंदिर मार्ग ए ब्लॉक की मुख्य सड़क पर अक्सर सीवर जाम के कारण अक्सर ओवरफ्लों की समस्या लगी रहती है। ओवरफ्लो के कारण सड़क पर जलभराव से राहगीरों को काफी परेशानियां उठानी पड़ पड़ती है। सड़क पर निगम का नाला है जिसमें कूड़ा भरा पड़ा है। जिससे नाले के पानी का निकास तेजी से नहीं हो पाता है। नाला ओवरफ्लो होने के कारण सड़क पर पानी आकर भर जाता है। सड़क पर पानी बहने के कारण हालत बदतर हो गए है। बच्चों व बुजुर्गों को पानी से डूबी सड़क पर चलना होता है। आए दिन सड़क पर बने गड्ढे दुर्घटना का कारण बनते है। स्थानीय लोगों ने बताया कि यह समय आम है इस प्रकार की सम्सया विधानसभा क्षेत्र में विभिन्न कॉलोनी में आसानी से देखाने को मिल सकती है। जहां लोग ओवरफ्लों की समस्या से रोजाना क्षेल रहे हैं।

जनता की राय

विधानसभा क्षेत्र में कई ऐसी समस्याएं है, जिनसे क्षेत्रवासियों को हर दिन दो-चार होना पड़ता है। इलाके में कोई पार्किंग नहीं होने के कारण लोग सड़कों पर वाहन खड़े कर देते हैं। इस कारण अक्सर इलाके में जाम की समस्या लगी रहती है। इसी प्रकार इलाके में लाइब्रेरी नहीं है जहां क्षेत्र के बच्चों को सरकार की तरफ से शिक्षा संबंधित सामग्री प्राप्त हो सके और व आराम से दो-चार घंटे बैठक कर पड़ सके।

शुभम चौहान, समसपुर गांव निवासी

विधानसभा क्षेत्र की कॉलोनियों में एक भी गली ऐसी नहीं है जहां गलियों में बिजली के तारों का मकड़जाल न लगा हो। अधिकतर गलियों में बिजली के तार नीचे तक लटक रहे हैं। इस वजह से लोगों को हमेशा हादसे का डर बना रहता है। इस संबंध में कई बार जनप्रतिनिधि को शिकायत की जा चुकी है, लेकिन कोई भी सुनने वाला नहीं है। बरसात के दिनों में करंट उतरने का डर बना रहता है।

डॉ. विना भल्ला, पांडव नगर निवासी

विधासभा क्षेत्र में सीवर जाम की सबसे बड़ी समस्या है। सभी कॉलोनियों में सीवर जाम की समस्या बनी हुई है। सीवरों नियमित रुप से समय पर सफाई न होने के कारण नालियां जाम पड़ी हुई है। निगम कर्मचारी इलाके में सफाई व्यवस्था के लिए इलाके में आते तो है,लेकिन सफाई के नाम पर खानापूर्ति करकर चले जाते हैं। नालियों की समय पर सफाई न होने के कारण नालियां आए दिन जाम पड़ी रहती है।

शैलेश कुमार, ललिता पार्क निवासी

इलाके में डीडीए के खाली प्लाट बदहाल पड़े हुए है। रात के समय यह प्लाट असमाजिक तत्वों का ठिकाना बन जाता है। जहां असमाजिक तक नशे आदि का सेवन करते है और फिर देर रात चोरी व लूटपाट की वारदातों को अंजाम देते है। इन खाली प्लाट में सरकारी योजना के लिए बुजुर्गों के लिए मनोरंजन केंद्र के लिए डीडीए विभाग व स्थानीय विधायक को लिखित में शिकायत दे रखी है, लेकिन कोई सुध लेने को तैयार नहीं है।

किशन शर्मा, शकरपुर निवासी

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस