नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। बिजली, पानी, महिलाओं के लिए डीटीसी बसों में सफर और सेप्टिक टैंक की सफाई की निशुल्क व्यवस्था करने के बाद अब दिल्ली की अनधिकृत कॉलोनियों में सीवर कनेक्शन के लिए भी शुल्क माफ होगा। दिल्ली सरकार की कैबिनेट ने सोमवार को मुख्यमंत्री मुफ्त सीवर कनेक्शन योजना को मंजूरी दी। इसके बाद मुख्यमंत्री केजरीवाल ने इस योजना की घोषणा की। अब सीवर कनेक्शन के लिए विकास, रोड कटिंग व कनेक्शन शुल्क नहीं देना होगा।

केजरीवाल ने कहा कि 31 मार्च 2020 तक आवेदन कर योजना का लाभ लिया जा सकता है। इस योजना से करीब 2.34 लाख लोग लाभान्वित होंगे। साथ ही यमुना को साफ करने में यह योजना मील का पत्थर साबित होगी। क्योंकि, अभी अनधिकृत कॉलोनियों के सीवरेज का पानी नालों से होकर यमुना में ही जाता है। इससे यमुना तो गंदी होती ही है, भूजल भी दूषित होता है।

सीएम भेजेंगे पत्र

मुख्यमंत्री ने कहा कि विभिन्न कॉलोनियों के लोगों को पत्र भेजकर सीवर कनेक्शन लेने के लिए प्रेरित किया जाएगा।

पहले कम किया गया था विकास शुल्क

सीवर कनेक्शन लेने के लिए 494 रुपये प्रति वर्ग मीटर के हिसाब से विकास शुल्क लगता था। बाद में दिल्ली सरकार ने इसे घटाकर 100 रुपये कर दिया था।

2.34 लाख लोगों के पास कनेक्शन नहीं

जल बोर्ड करीब 430 कॉलोनियों में सीवर लाइन बिछा चुका है और करीब 400 कॉलोनियों में यह लाइन बिछाई जा रही है। विकास शुल्क कम होने के बावजूद करीब 2.34 लाख लोगों ने अब तक कनेक्शन नहीं लिया है। इसलिए नालों के जरिये यमुना में गंदगी पहुंचती है या आसपास के खाली क्षेत्र में अटी पड़ी रहती है। सीवर शुल्क माफ होने के बाद कनेक्शन लेने पर उपभोक्ताओं के हजारों रुपये बचेंगे व यमुना भी दूषित होने से बचेगी।

 दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

 

Posted By: Mangal Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप