नई दिल्ली [स्वदेश कुमार]। Delhi Election 2020: इस बार चुनाव आयोग ने पारदर्शिता के लिए मतदान प्रक्रिया में क्यूआर कोड का इस्तेमाल किया है। इसमें मतदाता की पर्ची पर क्यूआर कोड लगा हुआ है। पीठासीन अधिकारी और पोलिंग अधिकारी इस क्यूआर कोड को बूथ एप्लीकेशन के जरिये स्कैन कर रहे हैं। इसमें मतदाता का पूरा विवरण दर्ज हो जाता है। इस प्रक्रिया में काफी समय लग रहा है।

इसकी वजह से उन विधानसभा क्षेत्रों में मतदान केंद्रों के बाहर लंबी-लंबी लाइनें दिनभर लगी रहीं, जहां इस बार क्यूआर कोड को स्कैन किया जा रहा है।यमुनापार में रोहतास नगर, सीलमपुर और त्रिलोकपुरी में इस बार इस प्रक्रिया को अपनाया गया है। इन विधानसभा क्षेत्रों में शाम पांच बजे तक मतदान प्रतिशत कम रहा। 

कहां कितना फीसद हुआ मतदान

रोहतास नगर में 44.20 फीसद, सीलमपुर में 45.39 फीसद और त्रिलोकपुरी में 43.22 फीसद मतदान दर्ज किया गया। जबकि इन इलाकों में मतदाताओं की भीड़ केंद्रों पर सुबह से ही दर्ज की जा रही थी। सीलमपुर से ज्यादा इस बार घोंडा में मतदान हुआ है। घोंडा में पांच बजे तक 55 फीसद से अधिक मतदान हुआ। सीलमपुर की तरह मुस्तफाबाद में 53 फीसद मतदान दर्ज किया गया है।

क्यूआर कोड वाले विधानसभा क्षेत्र

कोंडली : 48 फीसद

पटपड़गंज : 45.46 फीसद

लक्ष्मीनगर : 42.86 फीसद

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस