नई दिल्ली [किशन कुमार]। पहले कांग्रेस में रहे। 2013 में आम आदमी पार्टी में शामिल हो गए और पार्टी के उम्मीदवार के रूप में त्रिनगर निर्वाचन क्षेत्र से 2013 में विधानसभा चुनाव लड़ा, लेकिन भाजपा के नंद किशोर गर्ग से हार गए। 2015 के दिल्ली विधान सभा चुनावों में फिर से आप के उम्मीदवार के रूप में खड़े हुए और गर्ग को मात दी। 14 फरवरी 2015 को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में दिल्ली सरकार में कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली और गृह, कानून, न्याय और पर्यटन, कला और संस्कृति विभागों की जिम्मेदारी संभाली।

उपलब्धियां

- वार्ड-68,69, 70,71 में विधायक कोष से स्ट्रीट लाइटें लगवाईं।

- पूरे क्षेत्र की 70 फीसद से ज्यादा मुख्य सड़कों का पुनः निर्माण।

- चार फुट ओवर ब्रिज का निर्माण।

- दो समुदाय भवन का निर्माण।

- 40 ओपन जिम का निर्माण।

- रामपुरा में रेलवे अंडर ब्रिज का निर्माण।

- शकुरपुर जेजे कॉलोनी के अंदर एलईडी लाइटों से लैस 250 बिजली के पोल लगाए।

- नौ मोहल्ला क्लीनिक का निर्माण।

- क्षेत्र के बदहाल पड़े 15 पार्कों का सुंदरीकरण।

- पांच साल के कार्यकाल में रिक़ॉर्ड 554 विकास कार्य पूरे किए।

- 112 जगहों पर करोड़ों की लागत से सीवर की लाइन डालने का कार्य।

- 70 जगहों पर पानी की लाइन डालने का कार्य।

दावों का पोस्टमार्टम

जानें- क्षेत्र के विपक्षी नेता मंजित सिंह बेनिवाल, केशवपुरम जिला उपाध्यक्ष इन दावों पर क्या कहते हैं? 

- पिछले पांच सालों में कोई फुटओवर ब्रिज नहीं बना है। इस वजह से सड़कों पर ही हादसे होते रहते हैं, यदि फुटओवर ब्रिज कही बनता तो वह दिखाई देता।

- आज भी कई मोहल्ले हैं जहां पर वर्षों से सड़कों का निर्माण नहीं हुआ है। यही कारण है कि लोगों को परेशानी से जूझना पड़ता है। लिंक रोड की बात करें या फिर इंद्रा कॉलोनी यहां पर बद से बदतर हालात देखने को मिल जाएंगे। जर्जर सड़क के कारण लोग गिरते हैं और चोटिल हो जाते हैं। सड़कें बनने का दावा गलत है।

- आज भी कई लोगों के घरों में पीने का पानी गंदा आता है। इस वजह से कई लोग बीमार भी पड़ते रहते हैं। किसी किसी कॉलोनी में तो पीने का पानी ही कई दिनों तक नहीं आता है। पांच सालों में यह काम तो विधायक जी को करना चाहिए था, क्योंकि यह मूलभूत सुविधाओं में शामिल है, लेकिन मूलभूत सुविधाएं भी लोगों से दूर हैं।

- पिछले पांच सालों में यहां पर कोई भी नया स्कूल नहीं बना है। कक्षाओं के नाम पर भी सिर्फ फर्जीवाड़ा हुआ है। आज भी स्कूलों में मूलभूत सुविधाओं की कमी है, सिर्फ फाइलों में ही काम हुआ है।

- यहां पर मोहल्ला क्लीनिक कुछ दूरी पर ही बना दिया गया, जबिक एक ही क्षेत्र में दो मोहल्ला क्लीनिक का आसपास होना समझ से बाहर है। इस संबंध में तो विधायक जी को सोचना चाहिए था।

त्रिनगर विधानसभा क्षेत्र में जनता की राय

- कन्हैया नगर निवासी प्रेम मेहरा बताते हैं, कई नई सड़कें बनी हैं। बिजली-पानी की समस्या दूर हुई है। विधायक जी के काम से हम संतुष्ट हैं। सड़कों पर घूम रहे बेसहारा पशुओं की समस्या को और दूर किए जाने की जरूरत है। क्योंकि, बेसहारा पशु दिनभर यहां घूमते रहते हैं। गली मोहल्लों से लेकर प्रमुख बाजारों में भी इस तरह की स्थिति देखने को मिल जाएगी, लेकिन अभी तक समस्या का समाधान नहीं हुआ है। यही कारण है कि हम लोग परेशानी का सामना कर रहे हैं। विधायक जी को इस समस्या पर ध्यान देकर समाधान करने की आवश्यकता है। जिससे लोगों को राहत मिल सके।

- गणेशपुरा निवासी मुकेश गांधी के मुताबिक विधायक जी के चुनाव जीतने के बाद पूरे पांच साल बीतने को हैं, लेकिन अभी तक विकास कार्य की रफ्तार धीमी पड़ी है। बिजली,पानी, सड़क की समस्या जस की तस बनी हुई है। पूरे इलाके में घूम लिजिए आपको विभिन्न जगहों पर जर्जर सड़क की स्थिति देखने को मिल जाएगी। इस वजह से लोग गिरकर चोटिल होते रहते हैं, इस संबंध में कई बार शिकायत भी की, लेकिन समस्या का कोई समाधान नहीं हुआ है। यही कारण है कि हम लोग वर्षों से परेशानी झेलने को मजबूर हैं। यदि विकास हुआ होता तो वह धरातल पर दिखता भी, लेकिन यहां से विकास कोसो दूर नजर आता है।

- लालन कॉलोनी निवासी जगदीश के अनुसार विधायक जी ने चुनाव के समय जो वादे किए थे वे वादे पूरे भी किए हैं। इन सालों सरकारी स्कूलों में फैली अव्यवस्था में बहुत सुधार हुआ है। बिजली-पानी की समस्या की बात करें तो यह भी काफी हद तक दूर हुई है। जर्जर सड़कों को सुधारा गया है। वहीं, वर्षों से बदहाल पड़े पार्कों का सुंदरीकरण किया गया है। इस वजह से पार्कों में लोगों को टहलने में सुविधा मिली है। हालांकि, अभी भी कई काम हैं जिनका यहं पर पूरा होना जरूरी है। तभी इस इलाके का पूरी तरह से विकास संभव होगा।

- शंकर चौक निवासी दीपक कुमार के मुताबिक, सच कहूं तो पिछले पांच सालों में विकास के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति की गई है। आज भी आपको कई इलाकों में पानी की समस्या को देखने को मिल जाएगी। यही नहीं कई लोगों के घरों में पीने का पानी गंदा आता है। यही कारण है कि कई बार लोग बाहर से मजबूरी में पानी को खरीदकर पीते हैं। इस संबंध में कई बार शिकायत भी कई गई, लेकिन अभी तक समस्या का कोई समाधान नहीं किया गया। इस वजह से लोग परेशानी का सामना कर रह हैं। विधायक जी को जमीन पर उतरकर समस्याओं का समाधान करना चाहिए।

जनता ने कहा ऐसा हो हमारा हो विधायक

- जनता के बीच पहुंचकर काम करने वाले विधायक चाहिए।

- चुनावी समर में दिखने के बजाय पूर पांच साल लोगों से मिलने वाले नेता चाहिए।

- धरातल पर उतरकर समस्या का समाधान करने वाले नेता होने चाहिए।

- ऐसे विधायक हो जिनके पास जनता के लिए अधिक समय हो।

Posted By: Amit Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस