नई दिल्ली, जागारण संवाददाता। शत-प्रतिशत मतदान जागरूक समाज की पहचान है और इस पहचान को बरकरार रखने के लिए निर्वाचन आयोग व जिला प्रशासन घर-घर तक जागरूकता फैलाने की कोशिश में जुटा है। इस मुहिम के तहत जिला प्रशासन निगम, यातायात विभाग, अस्पताल व मार्केट एसोसिएशन के साथ मिलकर काम कर रहा है। खास बात यह है कि प्रशासन की यह पहल रंग ला रही है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सार्वजनिक स्थलों पर मौका मिलते ही लोगों के बीच मतदान के मसले पर चर्चा शुरू हो जाती है।

ऑटो टिपर पहुंचा रहे मतदान का संदेश

निगम का ऑटो टिपर अभी तक लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करता नजर आता था, पर कैसा होगा जब यही ऑटो टिपर लोगों को मतदान करने के लिए प्रेरित करता नजर आएगा। जी हां, विधानसभा चुनाव में एक भी मतदाता मतदान करने से नहीं चूके, इसके लिए जिला प्रशासन तरह-तरह की तरकीब लगा रहा है। इसी कड़ी में निर्वाचन आयोग ने दक्षिणी दिल्ली नगर निगम को निर्देश दिए कि पश्चिमी व नजफगढ़ जोन के सभी ऑटो टिपर पर पोस्टर लगाए, जो लोगों को मतदान करने के प्रति जागरूक करें। निर्वाचन आयोग के निर्देश को मानते हुए निगम के सभी ऑटो टिपर आठ फरवरी तक लोगों को स्वच्छता के साथ मतदान करने की दिशा में जागरूक करेंगे। इसके लिए निगम ने ऑटो टिपर में लगे स्पीकर में चुनावी जिंगल डाल दिए हैं, जो घर-घर तक लोगों को जागरूक कर रहे हैं।

सार्वजनिक वाहनों की भी मदद

निर्वाचन आयोग की ओर से बसों, ऑटो व ई-रिक्शा पर भी मतदान जागरूकता पोस्टर लगा दिए हैं। प्रशासन का मानना है कि यदि जागरूकता कार्यक्रम में पूरी वर्क फोर्स लगा दी जाएं, तो भी घर-घर तक लोगों को जागरूक करना संभव नहीं है। ऐसे में कोशिश की जा रही है कि एक बार में अधिक से अधिक लोगों तक मतदान करने का संदेश पहुंचे।

अस्पताल व बाजारों में भी लगे स्पीकर

अस्पताल में रोजाना इलाज के लिए हजारों की तदाद में मरीज व उनके तीमारदार आते है। इसके अलावा चिकित्सक व अन्य कर्मचारी भी मौजूद रहते हैं। उन्हें अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए जागरूक किया जा रहा है। क्षेत्र के सभी सरकारी अस्पतालों व बाजारों में स्पीकर लगा दिए गए हैं, जो मतदाताओं को मतदान के लिए प्रेरित कर रहे हैं।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस