नई दिल्ली [संजीव गुप्ता]। Delhi Election 2020 : जमीनी स्तर पर भले ही कांग्रेस का प्रचार अभियान अब तक जोर न पकड़ पाया हो, लेकिन अंतिम दौर में पार्टी ने प्रचार को मजबूती देने के लिए पुख्ता तैयारी कर ली है। 40 स्टार प्रचारकों की सूची जारी करने के बाद अब पार्टी ने चार राज्यों के विधायकों और तीन राज्यों के मंत्रियों को भी दिल्ली विधानसभा चुनाव में प्रचार पर्यवेक्षक की जिम्मेदारी सौंप दी है। पर्यवेक्षक के तौर पर ये सभी वरिष्ठ नेता अभियान को असरदार बनाने के लिए काम करेंगे।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआइसीसी) ने राजस्थान, मध्य प्रदेश, पंजाब और छत्तीसगढ़ से 66 विधायकों को दिल्ली बुलाया है। इसी तरह मध्य प्रदेश, पंजाब और राजस्थान के 15 मंत्री भी आ गए हैं। इन सभी को दिल्ली चुनाव के प्रचार अभियान का पर्यवेक्षक नियुक्त किया गया है। कमोबेश हर सीट पर दूसरे राज्यों के एक-एक विधायक और हर जिले में एक मंत्री को पर्यवेक्षक बनाया गया है। हरियाणा से केवल स्टार प्रचारक ही लिए गए हैं, किसी को पर्यवेक्षक नहीं बनाया गया।

सूत्र बताते हैं कि एआइसीसी महासचिव के सी वेणुगोपाल और राज्यसभा सदस्य रहे जेडी सीलम ने सोमवार देर रात इन सभी की बैठक भी ली। 15 गुरुद्वारा रकाबगंज रोड स्थित एआइसीसी के वार रूम में हुई इस बैठक के दौरान कम समय में भी पार्टी के प्रचार को मजबूत और धारदार बनाने पर वृहद चर्चा हुई। बता दें कि सीलम राजनीति में आने से पहले कनार्टक कैडर के आइएएस अधिकारी रह चुके हैं, लिहाजा राजनीतिक और प्रशासनिक दोनों प्रकार का अनुभव रखते हैं।

पार्टी सूत्रों के अनुसार, सभी स्टार प्रचारकों की उपलब्धता के अनुरूप उनके शेडयूल को भी अंतिम रूप दिया जा रहा है। 1 से 6 फरवरी के बीच चुनावी क्लाइमेक्स में बड़े नेता करेंगे प्रचार। प्रचार अभियान में सर्वाधिक मांग प्रियंका वाड्रा, सोनिया गांधी, शत्रुघ्न सिन्हा, नवजोत सिंह सिद्धू और कैप्टन अमरिंदर सिंह की है। सोनिया गांधी, राहुल गांधी की सभा होगी, प्रियंका रोड शो करेंगी। कैप्टन अमरिंदर सिंह समेत कांग्रेस के मुख्यमंत्री भी सभा करेंगे। प्रियंका रोड शो के दौरान दिल्ली वासियों के साथ संवाद भी करेंगी।

पार्टी नेताओं का प्रयास है कि सभी स्टार प्रचारकों की रैलियां, जनसभा और पदयात्रा कुछ इस तरह से तय की जाएं ताकि कम से कम सातों लोकसभा क्षेत्र कवर हो जाएं। संभावना जताई जा रही है कि अगले एक-दो दिनों में ही इस बाबत आधिकारिक शेडयूल भी जारी हो जाएगा और स्टार प्रचारक भी विभिन्न क्षेत्रों में नजर आने लगेंगे। विभिन्न पर्यवेक्षक प्रचार अभियान की खामियों को दूरकर आपसी सामंजस्य भी स्थापित करेंगे। साथ ही यह भी देखेंगे कि कहां पर कांग्रेस को किन प्रचारकों के कार्यक्रम तय कर मजबूत स्थिति में लाया जा सकता है।

दिल्ली चुनाव की खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस