बाहरी दिल्ली, संजय सलिल। दिल्ली में शनिवार सुबह से ही मतदान केंद्रों पर मतदाता बड़ी संख्या में पहुंच रहे हैं। शहरी इलाकों के साथ ही ग्रामीण क्षेत्र में भी मतदान को लेकर मतदाताओं के बीच काफी उत्साह देखा गया है। मतदाता सुबह सात बजे से ही मतदान केंद्रों पर पहुंचने लगे थे। जबकि मतदान शुरू होने का समय सुबह 8 बजे का था। यही वजह रही कि ऐसे इलाकों में सुबह 10 बजे तक 6 फीसद से ज्यादा मतदान हो चुका था। 

सुबह 7 बजे से ही मतदान केंद्र पहुंचने लगे मतदाता

मतदाताओं  में उत्साह का ऐसा नजारा दिखा मतदाता सुबह 7:00 बजे से ही मतदान केंद्र पर पहुंचने लगे थे और कतार में खड़े हो गए  सुबह जैस बजे मतदान केंद्रों के दरवाजे खुले उनके बीच  वोट डालने को लेकर होड़ लग गई। बुराड़ी में कौशिक एनक्लेव के ऑस्कर पब्लिक स्कूल में बने पोलिंग बूथ पर ऐसा ही नजारा देखने को मिला, जहां मतदाता सुबह से ही पहुंचने लगे थे। यहां चार बूथों पर महिला पुरुष बुजुर्ग युवा हर वर्ग के वोटरों की लाइन लगी रहीं। इस मतदान केंद्र पर वोट डालकर निकले कन्हाई कुमार ने बताया कि उनके घर पर भगवान सत्यनारायण की पूजा है, लेकिन इससे पहले लोकतंत्र के पर्व में भाग लेना जरूरी समझा। इसलिए सुबह 7 बजे ही बूथ पर पहुंच गया। 

इसी तरह से संत नगर के एमडी पब्लिक स्कूल में भी सुबह 10 बजते बजते मतदाताओं की लंबी कतार लग गई। नरेला विधानसभा सभा क्षेत्र में मतदान को लेकर जागरूक दिखाई दिए। यहॉ के बख्तावरपुर में सर्वोदय कन्या स्कूल में सुबह 9 बजे तक साढ़े 5 फीसद वोट पड़ चुके थे। यहां 5 बूथों पर मतदाता लाइन में लगे दिखे।

91 साल के बुजुर्ग सभी चुनावों में डाला वोट 

91 साल के बुजुर्ग ओम प्रकाश ने बताया कि वह वयस्क होने के बाद अब तक सभी चुनाव में वोट डालते आ रहे हैं। हर वोटर को अपने इस अधिकार का इस्तेमाल करना चाहिए। इसी तरह से बवाना, किराड़ी, बादली आदि क्षेत्रों में भी ग्रामीणों के बीच  उत्साह देखा गया। ग्रामीण इलाके में जिस तरह से मतदाता सजग दिखाई दे रहे हैं उससे भाजपा व आप के बीच कांटे का मुकाबला लग रहा है।

Posted By: Ayushi Tyagi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस