नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। Delhi Congress president Subhash Chopra: कांग्रेस पार्टी अपने पुराने रुप में लौटने के प्रयास में है। अध्‍यक्ष चुनने के बाद पार्टी को उम्‍मीद है कि पार्टी अपने पुराने तेवर में लौट सके। कार्यकर्ताओं की गुटबाजी खत्‍म हो इसके लिए पार्टी को एक बार फिर से एकजुट होकर सत्‍ता में लौटने की संभावना को तलाशना होगा। इसके बाद ही पार्टी में नई जान आएगी। 

हर दिन दो घंटे कार्यकर्ताओं से मिलेंगे नए अध्‍यक्ष

इधर प्रदेश कांग्रेस के नवनियुक्त अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा एक नई परंपरा की शुरुआत करने जा रहे हैं। वह अपना कार्यभार बिना किसी समारोह के संभालेंगे। रविवार को दिवाली के मौके पर वह प्रदेश कार्यालय में पूजा करेंगे और इसके बाद सोमवार से नियमित तौर पर पार्टी कार्यालय में बैठना शुरू करेंगे। यही नहीं, हर रोज दो से तीन घंटे का समय पार्टी कार्यकर्ताओं से मिलने जुलने का भी रखा जाएगा। इस दौरान कार्यकर्ता प्रदेश अध्यक्ष से मुलाकात कर अपनी बात रख सकेंगे।

होगी नई शुरुआत

इससे पूर्व अमूमन सभी प्रदेश अध्यक्षों ने इस पद पर अपनी नियुक्ति होने पर भव्य समारोह के साथ ही अपना कार्यभार संभाला है। लेकिन, 1991 से लेकर अब तक बने लगभग दर्जन भर अध्यक्षों में से सुभाष चोपड़ा अपनी दूसरी पारी में समारोह न करने की नई शुरुआत कर रहे हैं। वह कार्यकर्ताओं की पिछले कुछ सालों से लगातार चली आ रही इस शिकायत को भी दूर करना चाह रहे हैं कि अध्यक्ष तो कार्यकर्ताओं के लिए कभी उपलब्ध ही नहीं होते।

कार्यकर्ताओं के लिए कहीं ये बातें

सुभाष चोपड़ा ने बताया कि यह समय समारोह आयोजित करने का नहीं बल्कि पार्टी और कार्यकर्ताओं को एकजुट करने का है। रही बात समारोह कि तो वह विधानसभा चुनाव में शानदार सफलता प्राप्त करने के बाद किया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि जल्द ही पार्टी रामलीला मैदान या इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में कार्यकर्ताओं का एक बड़ा सम्मेलन आयोजित कर विधानसभा चुनाव की तैयारियों का बिगुल फूंकेगी।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस