नई दिल्ली [वीके शुक्ला]। दिल्ली में ऑड- इवेन फिलहाल अभी लागू नहीं किया जाएगा। सचिवालय में आयोजित प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण नही है। आसमान साफ है। इसलिए सरकार ऑड- इवेन को फिर से लागू नहीं कर रही है।

इससे पहले 15 नवंबर केजरीवाल ने कहा था कि बार-बार अनुरोध करने के बाद पड़ोसी राज्यों पंजाब और हरियाणा ने पराली जलाने से रोकने को लेकर कोई कदम नहीं उठाया है। उन्होंने कहा कि प्रदूषण रोकने के लिए जो भी संभव है वह दिल्ली सरकार कर रही है। दो दिन के इंतजार के बाद सरकार इस बारे में कोई फैसला करेगी।

पराली जलनी बंद हुई तो गिरा प्रदूषण का स्तर: सीएम

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने रविवार को फिर कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में वायु प्रदूषण पराली जलने के कारण है। अब इसके लगभग खत्म होने पर वायु गुणवत्ता सुधर रही है। केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि पड़ोसी राज्यों में पराली जलनी बंद हो गई तो दिल्ली की हवा भी साफ हो गई। कुछ लोग कह रहे थे दिल्ली की हवा में केवल 5 फीसद पराली का प्रदूषण है। उन्होंने सवाल किया कि क्या केवल 5 फीसद प्रदूषण कम होने से एयर क्वालिटी इंडेक्स 500 से ज्यादा होने के बाद घटकर 200 से कम हो गया? केजरीवाल ने कहा कि प्रदूषण पर राजनीति नहीं, साफ नीयत से सबको मिलकर काम करने की जरूरत है।

ऑड-इवेन से प्रदूषण में कमी

केजरीवाल ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद अगर पड़ोसी राज्य पराली जलाना बंद नहीं कर रहे तो दिल्ली के लोग आखिर क्यों तकलीफ झेलें और कब तक झेलें। ऑड-इवेन स्कीम दिल्ली के लोकल प्रदूषण को कम करती है। दिल्ली में लगभग तीस लाख गाड़ियां प्रतिदिन सड़क पर उतरती हैं। ऑड-इवेन में 15 लाख गाड़ियां सड़क से हट गईं। इससे प्रदूषण में कमी आई। प्रदूषण को लेकर जो भी संभव था वह सब सरकार ने किया है।

यह भी पढ़ेंः  शीतकालीन सत्र में भाग लेने के लिए साइकिल चलाकर संसद पहुंचे भाजपा सांसद मनोज तिवारी

 दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

 

Posted By: Mangal Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप