नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। राजनीति में आने से पहले पंकज पुष्कर सरकारी नौकरी में थे। वह पुस्तकें भी लिख चुके हैं जो कि एनसीआरटी के पाठ्यक्रम में कक्षा 9-10 में पढ़ाई जाती है। फिलहाल वह दिल्ली विश्वविद्यालय से पीएचडी की भी पढ़ाई कर रहे हैं। वह भारतीय जनसंचार संस्थान से वर्ष 1996 में पत्रकारिता की भी पढ़ाई कर चुके हैं। अन्ना हजारे के आंदोलन के समय वह अपनी नौकरी छोड़कर अरविंद केजरीवाल की टीम में आ गए थे। यहां से उन्होंने पहला चुनाव तिमारपुर विधानसभा से लड़ा।

विधायकः पंकज पुष्कर

उम्र : 47

शिक्षा : पीएचडी कर रहे हैं

विधानसभा क्षेत्र - तिमारपुर

राजनीतिक दल : आम आदमी पार्टी

विधानसभा क्षेत्र में पोलिंग स्टेशन की संख्या :185

कुल मतदाता : 200567

महिला मतदाता : 91544

पुरूष मतदाता : 109009

अन्य : 14

उपलब्धियां

- इलाके में फ्री वाई-फाई के तीन हॉट स्पॉट चालू हो गए हैं। 100 का सर्वे का कार्य पूरा हो गया है। आने वाले सप्ताह में वह भी लगने शुरू हो जाएंगे

- दो हजार सीसीटीवी कैमरे लगने के लिए पास हो चुके हैं जिसमें 1400 कैमरें लग चुके हैं

- इलाके में छह मोहल्ला क्लीनिक चल रहे हैं साथ ही दो बनकर तैयार हैं और आठ और बनाना प्रस्तावित है

-388 बीघा जमीन को कब्जा मुक्त कराया

- विधायक निधि की 12 करोड़ की राशि से वजीराबाद गांव में वर्षों पुरानी पानी की निकासी की समस्या को खत्म किया

- वजीराबाद के रहने वाले बच्चों को तिमारपुर विधानसभा के सरकारी स्कूलों में दाखिला नहीं मिलता अब दाखिला देने की व्यवस्था की

-मल्कागंज इलाके में 15 साल से पानी की समस्या थी। पानी माफिया से मिलीभगत को तोड़कर सुबह -शाम पानी की व्यवस्था की

- 50 करोड़ की लागत से इलाके की कच्ची कॉलोनियों में सड़कों का निर्माण किया

-मल्कागंज में 2.5 करोड़ की लागत से सीवर की लाइन डलवाई।

- सरकारी राशन में राशन माफिया का कब्जा हटाया साथ ही इसमें पारदर्शिता की व्यवस्था की

दावों का पोस्टमार्टम

भाजपा के पार्षद रह चुके इंदू भूषण ने विधायक के दावों को खारिज किया है। उनका कहना है कि

-इलाके में सीवर की समस्या है, कई इलाके आज भी मूलभूत सुविधाओं का इंतजार कर रहे हैं

-वजीराबाद और कबीर बस्ती में सीवर की समस्या है

-कई इलाकों में पानी की समस्या हैं और कही पानी आता भी है तो वह बदबूदार व गंदा होता है

-वाइ-फाई के नाम पर एक इलाके में दिखावे के लिए वाई-फाई लगाया है

-सीसीटीवी लगे तो हैं लेकिन लोगों की शिकायत है कि वह काम नहीं करते

-इलाके में कोई भी नया अस्पताल नहीं बना है

-इलाके में नया स्कूल अभी तक जनता को नहीं मिला है

जनता ने कहा कि ऐसे हो हमारे विधायक

-विधायक शिक्षित हो।

-विधायक से मिलना या फोन पर बात करना आसान हो।

-विधायकों के यहां पर पीए की व्यवस्था खत्म होनी चाहिए जनता बिना किसी को बीच में लाए खुद मिल सके।

-विकास कार्यों में किसी भी तरह का भेदभाव नहीं होना चाहिए।

जनता की राय

स्थानीय निवासी सरला रानी ने बताया कि यहां पर वर्षों से गंदगी की समस्या है। इस संबंध में कई बार शिकायत भी की, लेकिन अभी तक समस्या का समाधान नहीं हो सका। गंदगी के कारण यहां रहना मुश्किल हो जाता है। गंदगी से यहां पर कई संक्रामक बीमारियां भी फैल रही हैं।

कुसुम वर्मा ने कहा कि इस इलाके में कई मूलभूत सुविधाओं की कमी है। जिस पर ध्यान दिए जाने की आवश्यकता है। नेताओं के राजनीति के साथ साथ विकास कार्य पर भी ध्यान देना चाहिए। क्योंकि, जब तक समस्याओं का समाधान नहीं होगा तब तक विकास असंभव है।

एक अन्य नागरिक अंजली जयसवाल ने बताया कि यहां पर विभिन्न समस्याएं ऐसी हैं जिनका वर्षों से कोई समाधान नहीं हुआ है। इस वजह से लोगों को परेशानी होती है। यहां साफ सफाई के साथ कई समस्याएं हैं जो लोगों के लिए सिरदर्द बनी हुई हैं।

महेश्वरी देवी ने कहा कि विधायक को समय समय पर लोगों से मुखातिब होना चाहिए। क्योंकि, जब तक नेता समय समय पर लोगों से मुखातिब नहीं होंगे तो समस्या का समाधान भी नहीं हो सकेगा।

 Delhi Election 2020 : AAP उम्मीदवारों के पक्ष में सीएम केजरीवाल ने किया रोड शो

 

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस