नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। Delhi Assembly Election 2020: जनवरी में संभावित दिल्ली विधानसभा चुनाव के मद्देनजर आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) के साथ भारतीय जनता पार्टी (Bhartiay Janta Party) ने भी मतदाताओं को रिझाने के लिए दांव चलने शुरू कर दिए हैं। इस कड़ी में नियमित करने की मांग को लेकर कई दिनों से धरने पर बैठे सफाई कर्मचारी यूनियन के प्रतिनिधिमंडल से मंगलवार को सिविक सेंटर में तीनों नगर निगम के महापौरों ने मुलाकात की। मुलाकात में उन्होंने भरोसा दिया गया कि उनकी मुख्य मांगों को फरवरी तक पूरा कर दिया जाएगा। उनकी मांग है कि संविदा पर 10- 15 सालों से काम कर रहे सफाई कर्मचारियों को नियमित किया जाए। इलाज के लिए कैशलेस मेडिकल कार्ड दिया जाए। जिन कर्मचारियों की काम के दौरान मौत हो चुकी है, उनके परिजनों को अनुकंपा के आधार पर नियुक्ति दी जाए। 

बैठक में उत्तरी दिल्ली स्थायी समिति के अध्यक्ष जयप्रकाश भी उपस्थित रहे। उन्होंने कहा कि तीनों नगर निगमों में सफाई कर्मचारियों की कुल 37 यूनियन हैं। प्रतिनिधिमंडल में यूनियन से एक - एक पदाधिकारियों को बातचीत के लिए बुलाया गया था। इस दौरान उन्हें भरोसा दिया गया कि फरवरी तक सभी संविदा सफाई कर्मचारियों को नियमित कर दिया जाएगा।

इसके लिए तीनों नगर निगमों के आयुक्तों को 30 नवंबर तक ऐसे कर्मचारियों की सूची जारी करने का आदेश दिया गया है। सफाई कर्मचारियों को कहा गया है कि वे एक दिसंबर से 15 दिसंबर के बीच अपने दस्तावेज जमा करा दें, ताकि नियमित करने की प्रक्रिया को शुरू की जा सके। इस भरोसे के बाद सफाई कर्मचारी संगठनों के पदाधिकारियों ने आपस में बैठकर धरना खत्म करने की बात कही है।

यहां पर बता दें कि तीनों नगर निगमों (दक्षिण दिल्ली नगर निगम, उत्तरी दिल्ली नगर निगम और पूर्वी दिल्ली नगर निगम) में भारतीय जनता पार्टी सत्ता में है।

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

 

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस