नई दिल्‍ली, जागरण संवाददाता। Delhi Assembly Election 2020: यह विधानसभा क्षेत्र दिल्ली के प्रमुख क्षेत्र में से एक है वर्ष 2008 में हुए परिसीमन के दौरान कोंडली विधानसभा क्षेत्र बना था। करीब आठ सौ साल पहले इस गांव के लोग आईटीओ के पास यमुना नदी के नजदीक बसे हुए थे। नदी का स्तर बढ़ने से आए दिन बाढ़ भी परेशान किया करती थी। बाढ़ से परेशान होकर वहां के लोग सब छोड़छाड़ कर यमुनापार के अलग-अलग स्थानों पर आकर बस गए। जिससे में कुछ लोग यहां घड़ोली में आकर बस गए। परिसीमन के बाद कई कॉलोनियां बस गई। इस कारण यहां से लोगों का पलायन भी लगातार जारी है। यह काफी वर्ष पुराना घड़ोली गांव है जहां पर ग्रामीण संस्कृति की झलक वर्तमान में भी देखने को मिलती है।

प्रमुख इलाके

  1. वसुंधरा एंक्लेव
  2. गाजीपुर डेयरी कॉलोनी
  3. घड़ोली डेयरी फार्म कॉलोनी
  4. मयूर विहार फेज-तीन
  5. खिचड़ीपुर पुनर्वास कॉलोनी
  6. कोंडली
  7. न्यू कोंडली
  8. राजीव कॉलोनी
  9. मुल्ला कॉलोनी
  10. कल्याणपुरी
  11. दल्लूपुरा

क्षेत्र की विशेषता

कोंडली विधानसभा क्षेत्र में कुछ किसानों के घर हैं। कुछ किसानों ने अपने घरों में भैंस पाल रखी है और आसपास के इलाकों के लोग भी यहां दूध खरीदने आते हैं। साथ ही यह इलाका नोएडा से जुड़ा हुआ है। कोंडली विधानसभा क्षेत्र के वसुंधरा एंक्लेव पॉश कॉलोनी है। जहां अन्य सरकारी विभाग के अधिकारी सहित बड़े व्यापारी रहते है। इस क्षेत्र के विधायक मनोज कुमार व पार्षद जुगनू चौधरी भी इसी विधानसभा क्षेत्र में रहती है।

पिछले विधानसभा चुनाव 2015 के आंकड़े

  1. - मनोज कुमार (विजयी), वोट पड़े- 63,185 (50.63%)
  2. - हुकुम सिंह (भजापा), वोट पड़े- 38,426, (30.79%)
  3. - अमरीश सिंह गौतम (कांग्रेस), वोट पड़े- 13,562 (10.86%)

कुल मतदाता : 188,607

पुरुष मतदाता : 102,592

महिला मतदाता : 86,003

क्षेत्र के वार्ड निगम पार्षद (पार्टी)

  1. वसुंधरा एंक्लेव राजीव चौधरी (भाजपा)
  2. घड़ोली गांव जूगनू चौधरी (बसपा)
  3. न्यू कोंडली अतुल कुमार गुप्ता (भाजपा)
  4. चंदर विहार कुलदीप कुमार

जातीय समीकरण

  1. जाट- 2%
  2. वैैश्य- 20%
  3. सिख- 2%
  4. मुस्लिम- 6%
  5. ब्राह्मण- 2%
  6. पिछड़ा वर्ग - 30%
  7. अनुसूचित जाति- 50%
  8. अन्य - 8%

प्रमुख मुद्दे

1 कोंडली विधानसभा क्षेत्र में सबसे बड़ा मुद्दा अतिक्रमण का है। न्यू कोंडली में निगम की पार्किंग है उसके बाद भी विधानसभा क्षेत्र की मुख्य मार्गों पर अवैध पार्किंग बनी हुई है। मयूर विहार फेज तीन स्थित मुख्य अवैध रूप से वाहन खड़े रहते है जिसके कारण अक्सर जाम की समस्या लगी रहती है। सड़क पर इस कदर वाहन खड़े रहते है कि अगर क्षेत्र में कहीं आग लगती है तो घटना स्थल पर दमकल गाड़ी समय तक नहीं पहुंच सकती है। इस संबंध में जनप्रतिनिधियों को कई बार शिकायत की गई, लेकिन उसके बाद भी कोई अधिकारी समस्या के समाधान के लिए कोई कार्रवाई नहीं करते है।

2 कोंडली विधानसभा क्षेत्र में कूड़े की समस्या सबसे गंभीर है, मुख्य मार्गों पर कूड़े के ढेर लगे रहते है। कूड़े से उठने वाली बदबू से क्षेत्रवािसयों का जीना दूश्वार हो रखा है। कूड़े की बदबू के कारण इलाके में बीमारियां केे फैलने का खतरा लगा रहता है। जिससे हालात और बदतर हो जाते है। एक समस्या किसी एक वार्ड की नहीं है यहां विधानसभा क्षेत्र के चारों वार्ड की मुख्य सड़कों पर कूड़े का अंबार लगा रहता है। स्थानीय लोगों ने बताया कि निगम के सफाई कर्मचारी सफाई करने को तैयार नहीं है, जनप्रतिनिधियों से शिकायत की जाती है लेकिन शिकायत के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं होती है।

3 मयूर विहार फेज तीन स्थित केरला पब्लिक स्कूल से गाजीपुर मंडी की ओर जाने वाली दिल्ली विकास प्राधिकरण की सड़क करीब पांच साल से टूटी पड़ी है। सड़क पर मरम्मत कार्य न होने के कारण सड़क की स्थिति काफी खराब हो गई है। इस मार्ग से दो पहिये और बड़े वाहनों को निकलने में काफी मुश्किलें होती है। आवागमन के दौरान गाड़ी एक दम गड्ढ़े में धंस जाती है। जिससे तेज झटका सा महसूस होता है। साथ ही गाड़ी को भी नुकसान पहुंचता है। रात के समय सड़क पर टूटा हिस्सा दिखाई नहीं पड़ता है। जिससे दुर्घटना का खतरा बना रहता है।

जनता की राय :-

इलाके की कई ऐसी सड़के है जो जगह-जगह टूटी पड़ी है। बरसात के बाद सड़क पर पानी आकर भर जाता है। सड़क के गड्ढ़ों में पानी आकर भर जाता है। सड़क पर आवाजाही करने के दौरान राहगीरों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इस संबंध में जनप्रतिनिधियों को कई बार शिकायत की गई लेकिन शिकायत के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं होती है।

राजेश अग्रवाल, कोंडली निवासी

इलाके में निगम की पार्किंग बनी हुई है उसके बाद भी लोग मुख्य सड़क पर अपने वाहन खड़े कर लेते है। सड़क पर अवैध पार्किंग के कारण आए दिन जाम की समस्या लगी रहती है। निगम द्वारा अवैध रूप से खड़े वाहनों पर कभी कार्रवाई नहीं करती है। निगम की उदासीनता के कारण ही सड़क पर अतिक्रमण का दायरा बढ़ता जा रहा है।

विमल कुमार, मयूर विहार फेज तीन निवासी

इलाके में सुरक्षा व्यवस्था काफी खराब है, पुलिस प्रशासन के सुस्त रवैये के कारण अपराधिक गतिविधियां बढ़ रही है। लोगों के दिलों में लूटपाट का इताना डर बैठ गया है कि देर रात कोई भी घरों से बाहर निकलने से कतराता है। सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम के लिए कई बार स्थानीय पुलिस से शिकायत की जाती है लेकिन शिकायत के बाद कोई सुध लेने को तैयार नहीं है।

सचिन चौधरी, राजीव कॉलोनी निवासी

इलाके में पहले दूषित पानी की आपूर्ती हुआ करती थी। पानी की समस्या के समाधान के लिए स्थानीय विधायक व जलबोर्ड के अधिकारियों को लिखित में कई बार शिकायत की। तब जाकर क्षेत्रवासियों को जलोबर्ड द्वारा साफ सुथरा पानी मिल पा रहा है। इलाके में शिक्षा व्यवस्था में भी काफी बदलाव हुआ है, शिक्षा के साथ बच्चों को खेल के प्रति भी जानकारी दी जा रही है।

सर्वेस वर्मा, न्यू कोंडली निवासी

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस