नई दिल्ली [संजीव गुप्ता]। Delhi assembly Election 2020:  दिल्ली विधानसभा चुनाव2020 के नजदीक आने के साथ टिकट की उम्मीद लगाए नेताओं को संतुष्ट करने के लिए दिल्ली कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष (Delhi Pradesh Congress Committee chief Subhash Chopra) सुभाष चोपड़ा प्रदेश कार्यकारिणी से पहले पांच चुनाव समितियों का गठन करेंगे। इन समितियों में छोटे, बड़े करीब 100 नेताओं के शामिल होने की संभावना है। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआइसीसी) ने इसके लिए दबाव बनाना शुरू कर दिया है। अगले कुछ ही दिनों में इन सभी समितियों की घोषणा कर दी जाएगी।

11 सदस्य तक होंगे शामिल

पार्टी सूत्रों के मुताबिक एआइसीसी का निर्देश है कि चुनाव समिति, घोषणा पत्र समिति, समन्वय समिति, अभियान समिति और प्रचार समिति का गठन जल्द किया जाए। कुछ समितियों में 11 सदस्य होंगे, जबकि कुछ में सदस्य संख्या 15 से 20 तक रखी जाएगी। इनमें सभी पूर्व प्रदेश अध्यक्षों, पूर्व सांसदों और पूर्व मंत्रियों को जिम्मेदारी दी जाएगी। इसके अलावा समिति में युवाओं को भी शामिल किया जाएगा।

खास बात यह है कि इन सभी समितियों में पूर्व अध्यक्ष अजय माकन (Ajay Maken) की टीम में रहे नेताओं को भी जगह दी जाएगी। ऐसा करके पार्टी एक बार फिर से गुटबाजी की अटकलों पर विराम लगाना चाहती है। पार्टी नेतृत्व कतई नहीं चाहता कि चुनाव की समय में किसी भी स्तर पर नाराजगी न हो। कार्यकारिणी गठन में नाराजगी की गुंजाइश रहती है। इसलिए चुनाव से जुड़ी समितियों का गठन तो जल्द हो जाएगा, लेकिन कार्यकारिणी विधानसभा चुनाव के बाद ही बनाई जाएगी।

सुभाष चोपड़ा (अध्यक्ष, प्रदेश कांग्रेस) के मुताबिक, विधानसभा चुनाव से संबंधित सभी समितियों का गठन एवं उनकी घोषणा बहुत जल्द कर दी जाएगी। उच्च स्तर पर विचार-विमर्श चल रहा है। सहभागिता एवं सामजंस्य के सिद्धांत पर चलते हुए प्रयास यही है कि इन समितियों के साथ विधानसभा चुनाव की तैयारी को तेज किया जाए।

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक 

 

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप