नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। विधानसभा चुनाव से ठीक पहले भाजपा को आप ने बड़ा झटका दिया है। चार बार विधायक रहे हरशरण सिंह बल्ली शनिवार को आप में शामिल हो गए। पार्टी मुख्यालय में राष्ट्रीय संयोजक और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलाई। इस दौरान उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी मौजूद थे।

ईमानदारी के आधार पर वोट

बल्ली 1993 से 2013 तक हरिनगर से विधायक रहे हैं और भाजपा की मदन लाल खुराना सरकार में मंत्री भी रहे थे। वह दिल्ली सरकार में पहले सिख मंत्री थे। पत्नी सहित आप में शामिल होने के बाद बल्ली ने कहा कि वह प्रभु से प्रार्थना करते हैं कि अरविंद केजरीवाल को चुनाव में सफलता मिले। केजरीवाल सरकार के विकास कार्यो, ईमानदारी और काम के आधार पर वह जनता से वोट मांगने जाएंगे। इस गृह क्षेत्र से पहुंचे कई अन्य लोगों ने भी आप की सदस्यता ग्रहण की है।

सीएम ने शिक्षा के क्षेत्र में किया जादू

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने शिक्षा के क्षेत्र में एक जादू करके दिखाया है। 20 साल की उम्र चंद्रशेखर और किशोर जी के साथ राजनीति की शुरुआत की थी। वह राजनीति सिद्धांतों पर आधारित थी। उन्होंने 1977 में उन्हें एमसीडी का पहला चुनाव लड़वाया था। दिल्ली का पहला सिख मंत्री बनने का सौभाग्य उन्हें मदन लाल खुराना ने दिया। 20 साल तक दिल्ली के विधायक भी रहे।

अच्‍छा लगा केजरीवाल का काम

बल्ली 2013 में भाजपा छोड़कर कांग्रेस में चले गए थे और 2013 में कांग्रेस की टिकट से चुनाव लड़ा था। मगर हार गए थे। चुनाव के बाद फिर से भाजपा में शामिल हो गए थे। भाजपा क्यों छोड़ी यह पूछे जाने पर बल्ली ने कोई सीधा कारण नहीं बताया। कहा कि भाजपा से उन्होंने टिकट नहीं मांगी थी और न ही अब चुनाव लड़ने की कोई इच्छा है। उन्हें भाजपा से कोई नाराजगी नहीं है। केजरीवाल का काम अच्छा लगा इसलिए आप में शामिल हुए हैं।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस