नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दिल्ली विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि गैर-मान्यता प्राप्त स्कूलों की मांगें जायज हैं। ऐसे में भाजपा इनकी मांगों को पूरा करने के लिए उनके साथ खड़ी है। दिल्ली में भाजपा की सरकार आने के बाद इसके लिए संविधान संशोधन की जरूरत पड़ी तो वह भी किया जाएगा। 700 स्कूलों को हम मान्यता देने के लिए कृतसंकल्प हैं।

दिल्ली भाजपा कार्यालय में गैर-मान्यता प्राप्त स्कूलों के प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल सरकार गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों को बंद करना चाहती है, लेकिन आज सवाल स्कूलों को बंद करने का नहीं होना चाहिए, बल्कि स्कूलों को मान्यता कैसे मिले इसका होना चाहिए।

मैंने विधानसभा में भी गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों को मान्यता देने का प्रश्न उठाया था तो मेरा माइक बंद कर दिया गया। इतना ही नहीं मार्शल बुलाकर सदन से बाहर कर दिया। सरकार ने मेरी बात सुनी होती तो स्कूलों के प्रतिनिधियों को सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन नहीं करना पड़ता। इस हक की लड़ाई में सभी को हमारे साथ आने की जरूरत है। बता दें कि दिल्ली में विधानसभा चुनाव जनवरी या फरवरी में हो सकते हैं। ऐसे में सभी दल लोगों को लुभाने की हरसंभव कोशिश कर रहे हैं।

 दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस