नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। आम आदमी पार्टी के सर्वे में 12 विधायक फेल हो गए हैं। इनमें दस विधायकों की टिकट काटी जा सकती है। हालांकि अंतिम फैसला करने से पहले पार्टी एक बार फिर इन सीटों पर सर्वे करा रही है। पार्टी चाहती है कि जिन विधायकों की खराब रिपोर्ट आई है। उस बारे में पूरी तरह जांच करा ली जाए।

जनता के बीच अच्‍छी छवि वालों को मिलेगा टिकट

2015 के चुनाव में आम आदमी पार्टी ने 70 में से 67 सीटें जीती थीं। तीन सीटों पर भाजपा जीती थी। इसके बाद हुए उप चुनाव में आप एक सीट हार गई थी। इसके बाद पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते आप ने 5 विधायकों की सदस्यता निरस्त करा दी है। अब कुल मिलाकर आप के 61 विधायक हैं। पार्टी नेतृत्व साफ तौर पर कह चुका है कि टिकट उसे मिलेगा, जनता में जिसकी छवि अच्छी होगी। ऐसे प्रत्याशी जो जनता का दिल जीतने में नाकाम साबित हुए हैं, पार्टी नेतृत्व उन पर दांव लगाने से परहेज करेगा।

दस विधायकों के टिकट काटे जाने की पूरी उम्मीद

हालांकि पार्टी नेतृत्व इस बारे में बात करने से कतरा रहा है कि कितने विधायकों के टिकट कटेंगे। लेकिन, कुछ विधायकों के टिकट काटे जाने से इन्कार भी नहीं कर रहा है। वहीं पार्टी सूत्रों का कहना है कि इस बार 12 विधायकों की सर्वे रिपोर्ट ठीक नहीं आई है। इसमें दस विधायकों की टिकट काटे जाने की पूरी उम्मीद है। पार्टी अब फिर से अंतिम सर्वे करा रही है। टिकट कटने वाले विधायकों की संख्या घट व बढ़ भी सकती है।

14 जनवरी तक घोषित होंगे प्रत्याशी

पार्टी के अंदरूनी सर्वे का काम पूरा होते ही पार्टी सभी प्रत्याशियों के नाम घोषित कर देगी। पार्टी के वरिष्ठ नेता गोपाल राय का कहना है कि 14 जनवरी तक सभी प्रत्याशियों के नाम घोषित कर दिए जाएंगे।

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस