नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आरोप लगाया है कि भाजपा ने नगर निगमों को भ्रष्टाचार का अड्डा बना रखा है। यदि भवन विभाग को निगमों से अलग कर दिया जाए तो भाजपा के आधे से ज्यादा निगम पार्षद चुनाव लड़ने से इन्कार कर देंगे। इतना ही नहीं भाजपा के पार्षद और उनके लोग रेहड़ी-पटरी वालों से अवैध वसूली तक करते हैं।

उन्होंने कहा कि दिल्ली में बहुत सारी सड़कें और नालियां ऐसी हैं जो भाजपा शासित निगमों के अधीन आती हैं। परंतु पिछले कई सालों से भाजपा ने एक भी सड़क या नाली बनवाने का काम नहीं किया है।

स्वच्छ भारत के नाम पर किया करोड़ों का भ्रष्टाचार 

मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली सरकार ने निगमों की सड़कों और नालियों को विधायक कोष और मुख्यमंत्री कोष द्वारा बनवाने का काम किया है। दिल्ली के बाजारों को व्यवस्थित करने की जिम्मेदारी निगमों की थी। परंतु भाजपा शासित एमसीडी ने पैसा खाकर बाजारों को अव्यवस्थित ढंग से चलने दिया और आज सभी व्यापारियों की गर्दन पर नगर निगमों ने सीलिंग की तलवार लटका रखी है। भाजपा ने स्वच्छ भारत के नाम पर करोड़ों रुपये का भ्रष्टाचार किया।

सिसोदिया ने कहा कि आप सरकार देश की पहली ऐसी सरकार है जो अपने 5 साल के कार्यकाल का रिपोर्ट कार्ड लेकर घर-घर जा रही है। यदि भाजपा ने अपना रिपोर्ट कार्ड तैयार किया तो उसमें केवल पैसा वसूली और भ्रष्टाचार सामने आएगा।

बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही भाजपाः सिसोदिया

उन्होंने कहा कि आज स्थिति यह है कि नगर निगमों के स्कूलों से जो बच्चे पांचवीं पास कर दिल्ली सरकार के स्कूलों में कक्षा 6 में आते हैं। वे फिर से कक्षा 2 की किताब से पढ़ना शुरू करते हैं। क्योंकि वे दूसरी कक्षा की पुस्तक नहीं पढ़ सकते हैं। भाजपा दिल्ली के बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है। भाजपा नेता विजय गोयल के सीएए को लेकर भड़की हिंसा पर आप को जिम्मेदार ठहराए जाने पर सिसोदिया ने कहा कि भाजपा के पास न कोई मुद्दा है, न कोई नेता है, इसलिए वह गलत आरोप लगा रहे हैं।

Weather Update: ठंड से ठिठुरी दिल्ली, रेवाड़ी में 1.5 डिग्री सेल्सियस पहुंचा न्यूनतम तापमान

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस